हल्द्वानी। हम जिस अचूक नुस्खे की बात कर रहे हैं इससे बुढ़ापे का कमर दर्द, किसी पुरानी चोट का दर्द, हिप्स में समस्या को दूर कर सकते है। आप निसचिंत होकर यह प्रयोग करें।

खाने वाली दवा :-
– अश्वगंधा 100 ग्राम, सौंठ यानि सुन्ठी जो मसालें में डालते है 50 ग्राम को देशी घी में भून लें।
– बाद में मीठी सुरंजान 50 ग्राम चूर्ण डाल दें।
– इसमें आप 200 Gm शहद या देशी चीनी मिलाकर रख सकते है।
– बस संभाल कर किसी कांच के पात्र में भरकर रख लें।

खानी कैसे है :

सुबह-शाम 2-2चम्मच दूध के साथ लेनी है। सारा समान पंसारी से इसी नाम से मिल जाएगा ।

लगाने वाली दवा:-

– 4 पीस जायफल और 50 ग्राम कायफल को अच्छी तरह बारीक कर लें।
– फिर सरसों या तिल तेल 100 मि.ली. कड़ाही में गर्म करें
– फिर उसमें जायफल और कायफल चुटकी- चुटकी डाल कर जला कर उतार लें।
– फिर ठंडा होने पर छलनी से छानकर बोतल में रख दें।
– एक दिन बाद उसमें मैल नीचें बैठ जाएगा।
– फिर उसे आप दूसरी बोतल में सावधानी से डाल लें, मैल न डालें।
– जो तेल बनाया उसे पीठ पर सुबह-शाम रोज 15 मिनट तक मालिस जरूर करें।
– मालिस हल्के हाथों से करनी है, रगड़ाई नही करनी है।
– अलग अलग प्रॉब्लम के अनुसार 1 से 3 महीने का वक्त लग सकता है।
– ठीक होने में ठंडी चीजों का परहेज करना चाहिए।
– दही, राजमा, चावल, उड़द की दाल आदि का सेवन भी नहीं करना चाहिए।

नोट :- जिन लोगों को पेट में गैस, कब्ज, पेट में जलन की समस्या है वो पहले उसका इलाज करवाएं। उनकी 50% बिमारी उससे ही ठीक हो जाएगी। जिन्हें यह समस्या नही वो सीधा नुस्खा प्रयोग कर सकते है। नुस्खा प्रयोग से पहले आप चिकित्सक की सलाह जरूर लें।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here