– लॉरेंस विश्नोई के नाम पर टायर कारोबारी से मांगी थी 1 करोड़ की फिरौती

रुद्रपुर, डीडीसी। सलमान खान जैसे सुपरस्टार से फिरौती मांगने वाले डॉन लॉरेंस विश्नोई की उत्तराखंड में एंट्री से खाकी भौचक्की थी। वजह, रुदपुर के टायर कारोबारी पर फायरिंग के बाद 1 करोड़ की फिरौती और फिरौती मांगने वाले ने फोन पर खुद को लॉरेंस विश्नोई बताया था, लेकिन कहानी से पर्दा उठा तो माजरा कुछ और ही निकला। आइए जानते हैं उत्तराखंड के उधमसिंहनगर जिले में घटी वारदात के पीछे आखिर क्या थी असल वजह।

इसलिए दिया वारदात को अंजाम
रुदपुर कोतवाली पुलिस ने शुक्रवार को मामले का खुलासा कर दिया। मामले में आरोपी जसवीर सिंह उर्फ जस्सी निवासी अर्जुनपुर रुद्रपुर और गौरव उर्फ गोलू निवासी घास मंडी रूद्रपुर को गिरफ्तार किया गया। पुलिस के मुताबिक मामला ब्याज पर कर्ज लेने से जुड़ा है। आरोपियों ने टायर कारोबारी निरमन जीत सिंह से ब्याज में पैसे लिए गए थे और कर्ज चुकाते-चुकाते उनका मकान बिक गया। इससे खुन्नस खाये आरोपियों अपने दो और साथियों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया।

पहले डराओ और फिर करो वसूली
पूरी वारदात को सोच समझ कर अंजाम दिया गया। कुल मिला कर मुम्बइया वसूली गैंग की तर्ज पर कि पहले डराओ और फिर मौत का खौफ दिखा कर वसूली करो। ऐसा ही 29 दिसम्बर की रात रुद्रपुर के गल्ला मंडी में गुरु नानक टायर की दुकान पर किया गया। बदमाशों ने डराने के लिए ताबड़तोड़ फायरिंग की और फिर व्यापारी को व्हाट्सएप कॉल कर लॉरेंस बिश्नोई के नाम पर एक करोड रुपए की फिरौती भी मांगी ।

लॉरेंस नहीं, लेकिन उसके गुर्गे हो सकते हैं
पूरी वारदात में शामिल ने अन्य दो फरार आरोपी सहज दीप उर्फ गुल्लू और मनप्रीत उर्फ गोपी निवासी बहेड़ी बरेली उत्तर प्रदेश की तलाश में पुलिस की दबिश जारी है। एसपी सिटी देवेंद्र पींचा के मुताबिक घटना में चर्चित बदमाश लॉरेंस विश्नोई का प्रत्यक्ष रूप से कोई हाथ नहीं है, लेकिन वारदात में विश्नोई टीम के गुर्गों के शामिल होने से भी इंकार नही किया जा सकता। इसकी जांच चल रही है और फरार की गिरफ्तारी के बाद यह भी साफ हो जाएगा।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here