– मास्क के साथ जरूरी एहतियात से ही बचा सकता है आपको संक्रमण से

नई दिल्ली, डीडीसी। कोरोना अपना रंग-रूप बदल रहा है और वक्त के साथ वह खुद को ताकतवार भी बना रहा है। ऐसी गंभीर स्थिति में यदि आप यह सोच रहे हैं कि केवल मास्क पहन कर कोरोना से बच जाएंगे तो आपकी सोच बिल्कुल गलत है। क्योंकि आपका मास्क अपने बूते आपको कोरोना से नहीं बचा सकता। ये सच है और एक स्टडी से यह साबित भी हो चुका है। ये स्टडी न्यू मैक्सिको स्टेट यूनिवर्सिटी में एसोसिएट प्रोफेसर कृष्णा कोटा ने किया है। पूरी दुनिया की स्वास्थ्य एजेंसी महामारी की शुरुआत से ही इस पर रिसर्च करने में जुटी, लेकिन इससे बचाव में सबसे अहम है सोशल डिस्टेंसिंग। प्रोफेसर कृष्णा ने कहा है कि मास्क वास्तव में मदद करता है, लेकिन अगर लोगों के बीच पर्याप्त दूरी नहीं है तो मास्क भी कोरोना वायरस से नहीं बचा पाएगा।

अलग-अलग तरह के मास्क पर किया गया शोध
शोध के दौरान पांच अलग-अलग तरह के मास्क का इस्तेमाल किया गया है। एआईपी पब्लिशिंग में प्रकाशित फिजिक्स ऑफ फ्लुड्स में यह शोध किया गया। हर में अलग-अलग तरह के मटेरियल यूज किया गया था। इस दौरान पाया गया कि खांसने और छींकने के दौरान मटेरियल में ड्रॉपलेट्स की संख्या तो कम पाई गई, लेकिन दो लोगों के बीच 6 फीट से कम दूरी होने पर यह पर्याप्त बीमारी का कारण बन सकते हैं।

मास्क को लेकर इस तरह नतीजे पर पहुंचे
इस शोध के नतीजे तक पहुंचने के लिए शोधकर्ताओं ने एक मशीन तैयार की। ये मशीन एयर जनरेटर के जरिये छींकने या खासने की हूबहू नकल करती है और छोटे-छोटे कणों यानि ड्रॉपलेट्स को हवा में फैलाता है। ये छोटे-छोटे कण एक हवा बंद ट्यूब में छोड़े जाते हैं। इस पाया गया कि मास्क ज्यादातर कणों को रोकने में तो कामयाब हो गए, लेकिन छह फीट से कम दूरी पर ऐसा नहीं हुआ। बल्कि ऐसी स्थिति में पाया गया कि 6 फीट से कम दूरी होने पर भले ही कण कम पहुंचते हों, लेकिन यह किसी को भी बीमार करने केलिए पर्याप्त हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here