नई दिल्ली। बात खाने के स्वाद की हो या फिर स्वास्थ्य की, हींग को दोनों ही मामलों में कारगर माना जाता है, लेकिन आप यह जान कर हैरान हो जाएंगे कि भारत की हर रसोई में पाई जाने वाली हींग भारत मे पैदा ही नही होती है। हींग तो पेट दर्द के लिए भी एक कारगर औषधि है। लेकिन क्या आपको पता है कि हर घर के लिए इतने काम की चीज हींग भारत मे उगाई ही नही जाती। भारत मे इस्तेमाल होने वाली हींग को विदेशों से आयात किया जाता है, लेकिन अब ऐसा नही होगा। जल्द ही हींग की महक अब भारत के खेतों से आएगी।

हिमांचल होगा हींग का पहला ठिकाना
नई दिल्ली। क्या आपको पता है कि भारत में अभी तक हींग क्यों पैदा नही होती। चलिए हम आपको बताते हैं इसकी वजह। सीएसआईआर और इंस्टिट्यूट ऑफ हिमालयन बायोरिसोर्स टेक्नोलॉजी (I H B T) पालमपुर ने पहली बार देश में ही हींग उगाने के काम शुरू किया। सुइसाइर के डायरेक्टर जनरल (DG), सीएसआईआर (डॉ. शेखर मांडे) बताते हैं कि हींग उगाने के लिए वर्ष 2016 से रिसर्च चल रही थी। हींग सिर्फ ठंडी और सूखी जगहों पर ही पैदा होती है। इसके साथ कुछ और भी भौगोलिक परिस्तिथियों का ध्यान रखना होता है। अब तक हींग अफगानिस्तान और ईरान जैसे देशों से आयात की जाती है। इंसिटीयूट ऑफ हिमालयन बायोरिसोर्स टेक्नोलॉजी के डायरेक्टर संजय कुमार ने लाहौल और स्फीति के गांव क्वारिंग में हींग उगाने की पहल की है। जो हिमांचल प्रदेश का ठंडा और सूखा जिला है।

2 COMMENTS

  1. भारत मे हर वो सामान या उत्पाद का उत्पादन होना चाहिए जो दुसरे देश से मंगाई जाती है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here