– दहेज उत्पीड़न का केस वापस लेने के बदले साली मांग रही थी 25 लाख

जयपुर, डीडीसी। पत्नी (Wife) छोड़ कर चली गई थी और सिर पर लाद गई थी दहेज उत्पीड़न (Dowry harassment) का मुकदमा (court case). परेशानी और थी कि धंधे में दोस्त भी गद्दार मिला। रोम-रोम कर्ज में डूब चुका था और अब साला-साली मिलकर जीजा को ब्लैकमेल करने लगे थे। वो जीजा से 25 लाख मांग रहे थे और कह रहे थे कि दहेज उत्पीडन का केस वापस ले लेंगे। रुपये न देने पर दोनों जीजा को जान से मारने की धमकी भी दे रहे थे। जीजा तंग आ चुका था और उक्ता कर उसने जहर (Poison) खाकर आत्महत्या (Suicide) कर ली। जीजा की मौत हो चुकी है और कानून का शिकंजे से साला और साली का गला कस चुका है। मामला राजस्थान (Rajasthan) के सीकर जिले (Sikar) का है।

जहर दिखाकर व्हाट्सएप पर लिखा अलविदा
मृतक जगदीश के भाई प्रेम कुमार ने बताया कि शुक्रवार को जगदीश ने वाट्सएप ग्रुप पर जहर दिखाकर उसका फोटो पोस्ट किया था। साथ ही लिखा था कि अलविदा दोस्तों, मैं जहर खा रहा हूं। जगदीश ने लिखा कि अब उसकी जीने की इच्छा नहीं रही। जगदीश का ये मैसेज देखकर परिजन हैरान-परेशान हो गए। पहले यो उसे फोन किया गया, लेकिन उसने फोन नही उठाया। जिसके बाद उसकी तलाश शुरू की गई। जगदीश बदहवास हालत में अजुर्नपुरा गांव में मिला। यहां से उसे पलसाना ले जाया जा रहा था, लेकिन अस्पताल पहुंचने से फके ही उसकी मौत हो गई।

मायके पहुंचते ही लिखाया मुकदमा
सीकर जिले के मांडोता गांव का रहने वाला 30 वर्षीय जगदीश जाट की शादी करीब छह साल पहले सोला की रहने वाली संगीता के साथ हुई थी। लंबे समय तक दोनों का वैवाहिक जीवन खुशियों से भरा रहा, लेकिन रफ्ता-रफ्ता खुशियां दोनो के बीच से काफूर होती रही। संगीता का कहना था कि उसका पति जगदीश और ससुराली दहेज के लिए उसका उत्पीड़न करते हैं। संगीता पर उत्पीड़न इस कदर बढा कि उसने अपने पति का घर छोड़ दिया और अपने मायके आ कर रहने लगी। इतना ही नही, पिछले साल जून में जगदीश की पत्नी ने अपने पति पर दहेज का मुकदमा भी दर्ज करा दिया। जिससे जगदीश खासा परेशान था।

साला आया था अपने दोस्तों के साथ धमकाने
मृतक जगदीश के भाई प्रेम कुमार ने संगीता के भाई और बहन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। प्रेम कुमार का कहना है कि कुछ दिन पहले जगदीश का साला मनीष सीकर उसके पास आया था। मनीष के साथ उसके तीन-चार और दोस्त भी थे। ये लोग जगदीश को धमका कर गए थे। मनीष ने जगदीश से कहा था कि 25 लाख रुपए देने पर वह उस पर लगे मुकदमे वापस ले लेंगे और अगर इस बात पर वह राजी नहीं हुआ तो उसे अपनी जान से हाथ धोना होगा। इसी के चलते उसके भाई ने आत्महत्या कर ली।

आखिरी वक्त में दगा दे गया दोस्त
मृतक के भाई प्रेम ने बताया कि, जगदीश खुद पर लगे मुकदमे को लेकर बहुत परेशान था। जगदीश की परेशानी तब और बढ़ गई जब उसके एक दोस्त ने भी उसे आखिरी वक्त में धोखा दे दिया। दरअसल, जगदीश ने सीकर में पार्टनरशिप में एक डिफेंस एकेडमी खोली थी। कुछ दिन पहले उसके पार्टनर ने जगदीश को एकेडमी से निकाल दिया और सारी देनदारी उसके नाम पर दिखा दी। पहले से परेशान जगदीश अब इस धोखे की वजह से मानसिक तनाव का शिकार हो गया।

साले और उसके दोस्तों के खिलाफ FIR
सदर थानाध्यक्ष पुष्पेंद्र सिंह का कहना है कि मांडोता निवासी प्रेम कुमार ने आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है कि उसके भाई को लोग काफी दिनों से परेशान कर रहे थे। साथ ही दहेज़ उत्पीड़न का केस वापस लेने के बदले 25 लाख रुपये की मांग की जा रही थी। मृतक के साले और तीन-चार अन्य के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने की रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here