डीडीसी, पटना। बिहार विधानसभा चुनाव में लगातार टूट रही भाषा की मर्यादा एक बार फिर चमड़े की जुबान से फिसल गई। इस निशाने पर थीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और एनडीए। बिहार विधानसभा चुनाव के लिए महागठबंधन में शामिल वाम दलों के नेताओं ने पटना में संवाददाताओं से बातचीत की। सीपीएम के सीनियर नेता सीताराम येचुरी के दिए एक बयान से नया बखेड़ा खड़ा हो सकता है। येचुरी ने पश्चिम बंगाल में बीजेपी नेताओं की लगातार हो रही हत्या के सवाल पर कहा कि पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी का जन्म ही अपने विरोधियों की हत्या करवाने के लिए हुआ है। जिस तरह की तस्वीर लगातार बंगाल में देखने को मिल रही है, उससे सवाल तो उठेंगे ही। हालांकि सीताराम येचुरी ने यह भी कहा कि वैसे बीजेपी भी कोई दूध की धुली हुई नहीं है। सीपीआई नेता डी राजा ने इसी प्रेस वार्ता में चुनाव प्रचार के दौरान एक मंच पर तेजस्वी यादव और कन्हैया कुमार के नहीं आने के सवाल पर कहा कि यह कोई मुद्दा नहीं है। हम लोग अपने-अपने काम में जुटे हुए हैं और सभी अपनी-अपनी जगह पर चुनाव प्रचार कर रहे हैं। हम लोगों का मकसद इस सरकार को हटाना है और हम उस लक्ष्य की ओर आगे बढ़ रहे हैं। सीताराम येचुरी ने आगे कहा कि बिहार की जनता ने फैसला कर चुकी है कि वर्तमान सरकार को बदलना है। इसकी तस्वीर पहले चरण में सामने आयी है। पिछला जनादेश भी BJP के खिलाफ था, लेकिन उस जनादेश के साथ गद्दारी हुई।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here