– राम मंदिर के लिए दान में दिए गए थे चेक

भरत गुप्ता, लखनऊ। भाई साहब, चूना लगाने वाले किसी के सगे नही होते। इन्हें अगर भगवान को भी चूना लगाना पड़े तो गुरेज नही करते। हालांकि हुआ भी ऐसा ही है। इन चूनाबाजों ने भगवान राम को ही चूना लगा दिया। हुआ यूं कि खुद को भक्त कहने वाले इन चूनाबाजों ने राम मंदिर निर्माण के लिए चंदे के तौर पर चेक दिया था, जो बाउंस हो गए। इन चेकों की संख्या 15 हजार है।

श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट की ऑडिट रिपोर्ट में हुआ खुलासा
राम मंदिर निर्माण के लिए दान में दिए गए 22 करोड़ रुपये के 15,000 चेक बाउंस हो गए हैं। केंद्र सरकार की ओर से राम मंदिर निर्माण के लिए बनाए गए ‘श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट’ की ऑडिट रिपोर्ट में यह बात सामने आई है। ऑडिट रिपोर्ट में ट्रस्ट के अधिकारियों ने बताया है कि संबंधित बैंक खातों में फंड की कमी या फिर ओवरराइटिंग और सिग्नेचर के मिसमैच होने जैसी खामियों के चलते ऐसा हुआ है। ट्रस्ट के सदस्य डॉ. अनिल मिश्रा ने कहा कि बैंकों से इस संबंध में बात की जा रही है और तकनीकी खामी वाले मामलों में उन्हें दूर कर रकम ट्रांसफर कराने के प्रयास किए जा रहे हैं।

मिलेगा एक मौका गलती सुधारने का
बैंकों की ओर से उन लोगों को अपनी खामी सुधारने का एक मौका दिया जाएगा, जिनकी ओर से जारी किए गए चेक बाउंस हुए हैं। जो 15,000 चेक बाउंस हुए हैं, उनमें से 2,000 अयोध्या से ही कलेक्ट किए गए हैं। इसके अलावा अन्य 13,000 चेक देश के अन्य हिस्सों से आए हैं। ट्रस्ट की ओर से अब बाउंस हुए चेकों को वापस किया जा रहा हैं और डोनेट करने वाले लोगों से अपील की जा रही है कि वह दोबारा नया चेक जारी करें।

25 सौ करोड़ का चंदा, राजस्थान ने दिया सबसे ज्यादा
अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए सबसे ज्यादा चंदा राजस्थान से 515 करोड़ रुपये का मिला है। इस बात की अभी तक आधिकारिक पुष्टि तो नही है, लेकिन बताया जा रहा है कि राम मंदिर निर्माण के लिए देश भर से 25 सौ करोड़ का चंदा मिला है। इस चंदे को विश्व हिंदू परिषद और उससे जुड़े अन्य संगठनों ने जुटाया है। चंदा जुटाने का यह अभियान 15 जनवरी से 17 फरवरी तक चलाया गया।

साजिश से नही किया जा सकता इंकार
क्या इतनी बड़ी मात्रा में चेक का बाउंस होना इंसानी चूक हो सकती है या फिर इसके पीछे षड्यंत्र है। षड्यंत्र की संभावनाओं से इंकार नही किया जा सकता। हो सकता है कि फर्जी भक्तों ने किसी योजना के तहत इतने सारे चेक बतौर दान जमा कराए गए हों, ताकि किसी तरह का विरोधाभास पैदा किया जा सके। वजह कि बाबरी विध्वंस के बाद से राम मंदिर निर्माण और कोर्ट के फैसले तक तमाम अराजक लोगों ने देश का माहौल बिगाड़ने की कोशिश की, हालांकि ऐसा हो नही पाया।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here