– टिहरी के नरेंद्रनगर से फरार सभी लोगों खिलाफ मुकदमा

डीडीसी, टिहरी। देश कोरोना की आग सर झुलस रहा है। सिस्टम धराशाई हो रहा, प्रधानमंत्री बैठक पर बैठक कर रहे है। बावजूद इसके हालात बेकाबू हैं और ऐसे में अगर 20 कोरोना मरीज भाग जाते हैं तो कितने शर्म की बात है। अब ये 20 भगौड़े किसी विस्फोटक से कम नही हैं। ये वाक्या है उत्तराखंड में टिहरी जिले के नरेंद्रनगर का। जहां राजकीय संयुक्त सुमन चिकित्सालय (डीसीएचसी) में बनाये गये कोविड केयर सेंटर से कोरोना मरीज भागे।

खाना देने गए तब लगा पता कि भाग गए
डीसीएचसी में कुल 38 कारोना मरीज भर्ती थे, जिसमें से 20 मरीज भाग चुके है। इसका पता 17 अप्रैल की रात तब लगा जब अस्पताल कर्मी खाना देने कोविड सेंटर पहुंचे। इतनी बड़ी तादात में मरीजो के भागने की खबर से हड़कंप मच गया। रात ही पुलिस ने हरिद्वार तक दौड़ लगाई। मोबाइल ट्रेस करने की कोशिश की, लेकिन कोई तरकीब काम नही आई।

निगरानी का नही है कोई इंतजाम
देर रात खबर फैलने के साथ हड़कंप मचा तो अधिकारियों में अफरा-तफरी मच गई। जब 20 कोरोना मरीज कम निकले। सूचना पर सीएमओ डा सुमन आर्य व एसडीएम युक्ता मिश्र मौके पर पहुंचे। अस्पताल के सीएमएस की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। बहरहाल अस्पताल अब पुलिस की निगेहबानी में है। भागने वालों में कई राज्यों के लोग हैं। खास बात तो यह है कि यहां कोरोना मरीजों की निगरानी के लिए कोई इंतजाम नही है। यही वजह है कि दिन में भागे मरीजों को खबर रात में पता लगी।

भागने वाले मरीज
उत्तराखंड के 2
राजस्थान के 7
उत्तर प्रदेश के 4
हरियाणा के 3
उड़ीसा के 4

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here