दिल्ली। लॉक डाउन के बाद बुरी आर्थिकी और बेरोजगारी झेल रही जनता के लिए बुरी खबर है। खबर ये है कि अपना घाटा पूरा करने के लिए अब बैंक अपने ही ग्राहकों की गर्दन काटने पर आमादा हैं। सीधा-सीधा कहें तो बैंक अब आपसे न सिर्फ पैसा जमा करने बल्कि निकालने पर चार्ज देना होगा। बैंक ऑफ बड़ौदा ने तो इसकी शुरुआत भी कर दी है।
अगले महीने से तय सीमा से ज्यादा बैंकिंग करने पर अलग अलग शुल्क लगेगा। बैंक ऑफ बड़ौदा ने चालू खाते, कैश क्रेडिट लिमिट और ओवर ड्राफ्ट अकाउंट से जमा-निकासी के अलग और बचत खाते से जमा-निकासी के अलग-अलग शुल्क निर्धारित किए हैं। लोन अकाउंट के लिए महीने में तीन बार के बाद जितनी बार ज्यादा पैसा निकालेंगे, 150 रुपये हर बार देने पड़ेंगे। बचत खाते में तीन बार तक जमा करना मुफ्त, मगर चौथी बार जमा किया तो 40 रुपये देने होंगे। वरिष्ठ नागरिकों को भी बैंकों ने कोई राहत नहीं दी है।

सीसी, चालू, ओवरड्राफ्ट पर ऐसे पड़ेगा डाका

आपको बता दें कि सीसी, चालू और ओवरड्राफ्ट खातों के लिए नियम कुछ इस प्रकार हैं। एक दिन में एक लाख तक जमा करना नि:शुल्क है। एक लाख से ज्यादा होने पर एक हजार रुपये पर एक रुपए चार्ज किया जाएगा। ये चार्ज न्यूनतम 50 रुपये और अधिकतम 20 हजार रुपये तक होगा। एक महीने में तीन बार पैसा निकालने पर आपको कोई शुल्क नहीं देना होगा, लेकिन चौथी बार या उससे अधिक बार पैसा निकाला तो 150 रुपये प्रत्येक विड्रॉल देने होंगे।

ये होगा बचत खाता ग्राहकों के साथ

तीन बार तक पैसा जमा करना नि:शुल्क होगा। चौथी बार से हर बार 40 रुपये देने होंगे। महीने में तीन बार खाते से पैसा निकालने पर कोई शुल्क नहीं लगेगा, लेकिन चौथी बार से हर विड्राल पर 100 रुपये देने होंगे। जनधन खाताधारकों को जमा करने पर कोई शुल्क नहीं देगा होगा, लेकिन निकालने पर 100 रुपये देने होंगे।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here