– चार दिन तक लाशों के बीच रही बच्ची

बेंगलुरु, डीडीसी। कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां एक घर में 5 शवों के मिलने से सनसनी फैल गई। इसमें एक 9 महीने की बच्ची भी शामिल है।

आशंका जताई जा रही है कि चारों ने कथित तौर पर आत्महत्या की है। वहीं, शवों के साथ घर में पांच दिन से रह रही नाबालिग बच्ची को पुलिस ने घर से बाहर निकाल लिया है।

घटना ब्यादरहल्ली पुलिस थाना क्षेत्र की है। घर में शव क्षत-विक्षत अवस्था में मिले थे। पुलिस के मुताबिक ये वारदात चार दिन पहले हुई थी। बच्ची उसी घर में रहती थी, जहां ये दिल दहला देने वाली घटना हुई। दो साल की बच्ची अचेत अवस्था में मिली थी।

जानकारी के मुताबिक, इस घर में एच. शंकर अपने परिवार के साथ रहते थे। वारदात के वक्त वह घर से बाहर थे। मृतकों में शंकर की दो बेटियां सिनचना (34) और सिंधुरानी (31), बेटे मधुसागर (25) और पत्नी भारती (51) शामिल हैं. चारों शव छत से लटके हुए थे।

पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) संजीव एम पाटिल ने कहा कि घटना का पता तब चला जब मकान मालिक ने शुक्रवार शाम को पुलिस को फोन किया और उन्हें सूचित किया कि किरायेदार फोन नहीं उठा रहे हैं और घर पर ताला लगा हुआ है। उन्होंने बताया कि जब पुलिस घर में दाखिल हुई तो उन्हें पांच शव मिले।

हम यह भी पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि पड़ोसियों को घटना के बारे में तीन-चार दिनों के बाद भी कैसे पता नहीं चला? आशंका जताई जा रही है कि घटना के पीछे पारिवारिक विवाद भी हो सकता है। पुलिस को कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here