– एक और बेतुके बयान से फिर चर्चा में आए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री

हरिद्वार, डीडीसी। कभी फटी जीन्स तो कभी कोरोना काल मे बांटे चावल को लेकर दिए बयान से चर्चा में रहने वाले उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत एक बार चर्चा में हैं। हरिद्वार महाकुंभ में जुट रही लाखों की भीड़ से बढ़ रहे कोरोना के खतरे पर CM तीरथ सिंह रावत का मानना है कि गंगा के आशीर्वाद से किसी को कोरोना नही होगा। अब आप ही बताइए कि अगर ऐसा होता तो लोग गंगा में ही डुबकी लगा लेते, उन्हें कोरोना की वैक्सीन लगाने की जरूरत नही पड़ती और न ही दुनियाभर के देश की सरकारों को इतनी मशक्कत नही करनी पड़ती। तो आइए जानते है कि CM ने और क्या-क्या कहा।

कहा, आशीर्वाद से कोरोना नही होगा, लेकिन बचाव जरूरी
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि मां गंगा की पवित्रता और आशीर्वाद से कोरोना नहीं होगा, लेकिन बचाव जरूरी है। सोमवार हरिद्वार में हुए शाही स्नान पर सीएम तीरथ ने कहा कि शाही स्नान के दौरान कोविड 19 के लिए तय सुरक्षा मानकों का शतप्रतिशत पालन कराया गया है। सीएम ने कहा कि कुंभ का आयेाजन केंद्र की स्वास्थ्य गाइड लाइन के अनुसार किया जा रहा है।

मरकज से नही की जा सकती कुंभ की तुलना
तीरथ ने कहा कि कुंभ के आयोजन की तुलना दिल्ली में पिछले साल हुए मरकज के कार्यक्रम से नहीं की जा सकती। मरकज के कार्यक्रम को भी कोरोना के प्रसार की वजह बताने पर सीएम ने कहा कि यह तुलना बिलकुल भी ठीक नहीं है। मरकज का कार्यक्रम एक सीमित स्थान पर एक इमारत के भीतर था। वहां लोगों के रहने-सहने की भी पर्याप्त व्यवस्था नहीं थी। एक ही बिस्तर में कई कई लोग लेटे रहते थे। जबकि कुंभ का आयोजन खुले परिसर में हो रहा है, कोविड गाइडलाइन का सख्ती से पालन भी किया जा रहा है। उनका कहना है कि कुंभ का आयोजन गंगा जी के पास हो रहा है। गंगा जी का आर्शीवाद लेकर सभी लोग लौट रहे हैं।

RTPCR जांच पर जवाब नही दे पाए सीएम
सीएम से सवाल किया गया कि कुंभ स्नान को आए 28 से 30 लाख लोगों की आरटीपीसीआर जांच किस प्रकार की गई और मानकों का पालन किस प्रकार कराया गया है? सीएम ने कहा कि कोविड प्रोटोकाल का पूरे मनोयोग से पालन कराया गया है। कुंभ का आयोजन खुले परिसर में हो रहा है। हरिद्वार में ही 16 घाट है। हरिद्वार के साथ ही ऋषिकेश में भी श्रद्धालु स्नान कर रहे हैं।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here