– बाबा के खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा और गिरफ्तारी की मांग

हरिद्वार, डीडीसी। आयुर्वेद और एलोपैथ के बीच शुरू हुआ विवाद चरम की ओर बढ़ रहा है। एलोपैथिक दवाओं पर अपने बयानों को लेकर योग गुरु रामदेव (Baba Ramdev) आजकल चर्चा में हैं। बुधवार को योग गुरु रामदेव का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, जिसमें वह अधिकारियों को गिरफ्तार करने की चुनौती देते दिखते हैं। इससे पहले दिन में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर मांग की कि कोविड-19 के उपचार के लिए सरकार के प्रोटोकॉल को चुनौती देने और टीकाकरण पर कथित दुष्प्रचार वाला अभियान चलाने के लिए योगगुरु रामदेव पर तत्काल राजद्रोह के आरोपों के तहत मामला दर्ज होना चाहिए।

36 सेकेंड के वीडियो में ये बोले बाबा
सोशल मीडिया पर वायरल 36 सेकेंड के वीडियो में स्वामी रामदेव कहते दिखते हैं, ‘खैर अरेस्ट तो उनका कोई बाप भी नहीं कर सकता स्वामी रामदेव को, लेकिन एक शोर मचा रहे हैं कि अरेस्ट स्वामी रामदेव। कभी कुछ चला देते हैं कि अरेस्ट रामदेव, ठग रामदेव, कभी महाठग रामदेव, कभी गिरफ्तार रामदेव।’ यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है और खूब सुर्खियां बटोर रहा है। हालांकि dakiyaa.com इस वीडियो की पुष्टि नही करता।

1000 करोड़ का नोटिस, माफी मांगे बाबा
योगगुरु बाबा रामदेव ( Baba Ram Dev ) और इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ( IMA ) के बीच जारी विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। बाबा रामदेव की तरफ से ऐलोपैथी ( Allopathy ) को लेकर दिए गए बयान पर अब आईएमए उत्तराखंड (IMA Uttarakhand) ने बड़ा कदम उठाया है। IMA उत्तराखंड ने रामदेव को 1000 करोड़ रुपए का मानहानि का नोटिस भेजा है। नोटिस में रामदेव से अगले 15 दिन में उनके बयान का खंडन वीडियो और लिखित माफी मांगने का भी अल्‍टीमेटम दिया है।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here