– उन्नाव पंचायत चुनाव के लिए भाजपा ने 51 जिला पंचायत प्रत्याशियों का किया था एलान

भरत गुप्ता, डीडीसी (लखनऊ)। उत्तर प्रदेश के उन्नाव (Unnao) में रेप केस (Rape Case) में उम्र कैद की सजा काट रहे पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर (Kuldeep Singh Senger) की पत्नी संगीता सेंगर (Sangeet Senger) को भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने पंचायत चुनाव (Panchayat Election) में टिकट से नवाजा है। बलात्कार की वजह से ही कुलदीप को न सिर्फ अपनी विधायकी गंवानी पड़ी, बल्कि भाजपा से भी निष्काशित होना पड़ा। हालांकि अब भाजपा को उनकी पत्नी संगीता के प्रति नरम हृदय दिखाना भारी पड़ गया। अब भारी फजीहत के बाद भाजपा ने बलात्कारी पूर्व विधायक कुलदीप की पत्नी संगीता का टिकट काट दिया है। संगीता सेंगर 2016 में निर्दलीय जिला पंचायत अध्यक्ष बनी थीं।

चार बार का विधायक रहा कुलदीप सिंह सेंगर
उन्नाव की अलग-अलग विधानसभा सीटों से कुलदीप सिंह सिंगर 4 बार के लोकप्रिय विधायक रहे हैं। 2017 विधानसभा चुनाव में बीजेपी के टिकट पर विधायक रहे कुलदीप सिंह सेंगर को साल 2018 में उन्नाव रेप केस में गिरफ्तार किया गया था, इसके बाद बीजेपी ने कुलदीप सिंह सेंगर को अगस्त 2019 में पार्टी से निष्काषित कर दिया था। कुलदीप सिंह सेंगर को कोर्ट से दोषी करार दिए जाने के बाद उसे उम्रकैद की सजा सुनाई गई है।

जमीनी कार्यकर्ताओं पर भी जताया भरोसा
उन्नाव में जिला पंचायत सदस्य के लिए बीजेपी ने 51 पदों के लिए प्रत्याशियों की सूची जारी की है। इनमें बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य आनन्द अवस्थी को सरोसी प्रथम से मैदान में उतारा गया है। वहीं पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी निवर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष संगीता सेंगर को पार्टी ने टिकट दिया था, लेकिन संगीता सेंगर पर विश्वास जताना भारी पड़ा और अब पार्टी ने फतेहपुर चौरासी तृतीय से टिकट दिया है। इनके अलावा नवाबगंज निवर्तमान ब्लॉक प्रमुख अरुण सिंह को असोहा द्वितीय से प्रत्याशी बनाया है। वहीं बीजेपी ने कई जमीनी कार्यकर्ताओं पर भी भरोसा जताते हुए प्रत्याशी घोषित किया है।

--Advertisement--

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here