– कौशिक बोले, लंबे समय तक मंत्री था तो गलती से लिया गार्ड ऑफ ऑनर

पिथौरागढ़, डीडीसी। गजब है और वो इसलिए कि जब उत्तराखंड सरकार के पूर्व मंत्री और वर्तमान भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक की बात सुनेंगे तो आप भी कहेंगे… गजब है। गजब है कि प्रदेश में गवर्नर और मुख्यमंत्री सरीखे लोगों को दिया जाने वाला गार्ड ऑफ ऑनर अब किसी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष को दिया जा रहा है। गजब कि पुलिस भी भूल गई कि वो किसे इतना ऑनर दे रहे हैं और सबसे गजब ये ऑनर शान से स्वीकार करने वाले पूर्व मंत्री और वर्तमान भाजपा अध्यक्ष मदन कौशिक। जिन्होंने बाद में ये कह कर बात टाली कि वो लंबे समय तक मंत्री थे तो ख्याल ही नही रहा कि गार्ड ऑफ ऑनर लेना है या नही। या ये कहा जाए कि डिमोशन के बाद भी अभी तक कौशिक के सिर से मिनिस्ट्री का भूत नही उतरा। खैर कुछ भी हो, लेकिन जो हुआ वो गजब हुआ।

किरकिरी के बाद पुलिस को याद आई जांच
बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद जब पहली बार मदन कौशिक (Madan Kaushik) बागेश्वर पहुंचे तो उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर (Guard of Honor) दिया गया। इस पूरे मामले में फिर विवाद खड़ा हो गया। किरकिरी के बाद आईजी ने जांच करने की बात कही तो वहीं आम आदमी के साथ कांग्रेस भी इसी बहाने पर सत्तापक्ष पर हमलावर हो गई। अब इस पूरे विवाद पर बीजेपी (BJP) प्रदेश अध्यक्ष का बड़ा बयान सामने आया है। अपनी सफाई में मदन कौशिक ने कहा कि गार्ड ऑफ ऑनर नहीं लेना चाहिए था। गलती से ले लिया गार्ड ऑफ ऑनर और वो इसलिए कि लंबे समय तक मिनिस्टर रहा था इसलिए ख्याल नहीं रहा।

“पुलिस ने भूल वश दिया ऑनर”
बीजेपी प्रवक्ता सुरेश जोशी ने कहा कि मदन कौशिक पिछले कई वर्षों से मंत्री रहे हैं। पुलिस ने भूल के कारण गार्ड ऑफ ऑनर दे दिया है। इसमें कोई राजनीति का विषय ही नहीं है, गलती किसी से भी हो सकती है।

“हर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष को ऑनर मिले”
उत्तराखण्ड परिवर्तन पार्टी के अध्यक्ष पीसी तिवारी ने कहा कि भाजपा सत्ता का पूरी तरह से दुरुपयोग कर रही है। राज्यभर के अधिकारी भाजपा के दबाव में हैं जो इस तरह नियम कानूनों को ताक में रख रहे हैं। सभी पार्टियों के अध्यक्षों को भी गार्ड ऑफ ऑनर मिलना चाहिए।

“देश भर में बयानों से सुर्खियां बटोर रहे हैं सीएम”
आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया ने ट्वीट कर कहा कि मुख्यमंत्री के बयानों का असर पुलिस पर भी हो रहा है। असल में मोहनिया बीते दिनों सुर्खियों में आए सीएम तीरथ रावत के बयानों की ओर इशारा कर रहे थे। सीएम के बयान उत्तराखंड ही नहीं बल्कि पूरे देश में चर्चाओं में हैं। पहले सीएम तीरथ रावत ने पीएम नरेन्द्र मोदी की तुलना भगवान राम से की, फिर फटी जींस, भारत को अमेरिका का गुलाम बताना और फिर 20 बच्चे पैदा करने की हिदायत।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here