– हेल्थ केयर वर्कर्स और 60 से ऊपर वालों को लगेगी वैक्सीन

नई दिल्ली, डीडीसी। देश में कोरोना का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। तीसरी लहर में मामलों में जबरदस्त बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। ऐसे में अब बूस्टर डोज या प्रीकॉशन डोज देने की तैयारी कर ली गई है। आज से हेल्थ केयर वर्कर्स और 60+ जिन्हें कोई comorbidity है, उनको वैक्सीन की तीसरी डोज दी जाएगी। इस बूस्टर डोज को लेकर भी कई सवाल हैं, जैसे- कौन सी वैक्सीन लगाई जाएगी? रेजिस्ट्रेशन फिर करवाना होगा या नहीं? कितने टाइम बाद ले सकते हैं बूस्टर डोज? आइए ऐसे तमाम सवालों के जवाब जानते हैं।

जो पहले लगी थी बूस्टर में भी वही लगेगी
भारत सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि जो भी लोग बूस्टर डोज लगवाने जा रहे हैं, उन्हें वहीं वैक्सीन दी जाएगी जिसकी पहली दो खुराक उन्हें मिल चुकी है. मतलब अगर आपको कोविशील्ड वैक्सीन की दोनों डोज लगी हैं तो बूस्टर भी कोविशील्ड की ही लगने वाली है।

बूस्टर के लिए रजिस्ट्रेशन की जरूरत नही
स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जानकारी दी गई है कि बूस्टर डोज या फिर प्रीकॉशन डोज लगवाने वाले लोगों को दोबारा रेजिस्ट्रेशन करवाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। उनके पास दो ऑप्शन रहने वाले हैं। पहला तो ये कि वे Cowin ऐप पर अप्वाइंटमेंट ले सकते हैं। ऐप पर अब थर्ड डोज को लेकर एक अलग फीचर भी जोड़ दिया गया है, ऐसे में आसानी से अप्वाइंटमेंट लिया जा सकता है। दूसरा ऑप्शन ये है कि आप सीधे वैक्सीनेशन सेंटर जाकर भी टीका लगवा सकते हैं। वहां भी दोबारा रेजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं पड़ने वाली है।

9 महीने बाद ही लगेगी बूस्टर डोज
अगर आपको कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज 9 महीने पहले लगी है, तो आप तीसरी डोज के लिए अप्लाई कर सकते हैं। अगर 9 महीने से कम हुआ है तो बूस्टर डोज अभी नहीं लगेगी।

बीमारों की सर्टिफिकेट दिखाने की जरूरत नही
अगर आपकी उम्र 60 प्लस है और आप दूसरी बीमारियों से भी ग्रसित हैं तो आपको बिना किसी रेजिस्ट्रेशन या सर्टिफिकेट के वैक्सीन लग जाएगी।

वैक्सीन स्व पहले बीमारों को डॉक्टर की पर्ची जरूरी
स्वास्थ्य मंत्रालय ने ये कहा है कि तीसरी डोज लेने से पहले डॉक्टर से सलाह ली जा सकती है। यहां ये जानना जरूरी है कि सर्टिफिकेट का मतलब डॉक्टर की कोई पर्ची या फिर प्रिसक्रिप्शन से है, जिसकी टीकाकरण के दौरान जरूरत नहीं पड़ेगी।

बूस्टर पर भी मिलेगा सर्टिफिकेट
अगर आपको वैक्सीन की तीसरी डोज लगी है तो हमेशा की तरह एक सर्टिफिकेट आपको रजिस्टर्ड मोबाइल फोन पर दिया जाएगा। उसमें तारीख से लेकर दूसरी जरूरी जानकारी मौजूद रहेगी।

सक्रिय फ्रंट लाइन वर्कर को मिलेगी डोज
सिर्फ उन फ्रंटलाइन और हेल्थ केयर वर्कर्स को बूस्टर या फिर प्रीकॉशन डोज दी जाएगी जो सक्रिय रूप से कोरोना काल में अस्पतालों में या फिर बाहर अपनी ड्यूटी दे रहे हैं। जानकारी के लिए बता दें कि फ्रंटलाइन वर्कर्स के अंदर स्वास्थ्यकर्मी, पुलिसकर्मी और अन्य सरकारी कर्मचारी शामिल हैं।

बूस्टर से पहले जरूरी हैं ये कागज
अगर बूस्टर डोज लगवाने जा रहे हैं तो अपने साथ वोटर आईडी कार्ड, आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस में से कोई एक पहचान पत्र जरूर साथ लेकर जाएं। उसी के आधार पर आपको वैक्सीन की बूस्टर डोज दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here