– एक हादसे में कार की डिक्की से सिर कटी लाश गिरने के बाद खुला मामला

सॉर्टावला, डीडीसी। रूस में एक शख्स को उस वक्त गिरफ्तार किया गया, जब बीच सड़क उसकी कार की डिक्की से एक लाश गिरी। उस लाश का सिर गायब था। पूछताछ में पता चला कि वो शख्स नरभक्षी (Cannibal Killer) था। इंसानों को मारकर उनका मांस खाना उसकी ‘आदत’ थी। उसने पुलिस के सामने और भी कई वारदातों का खुलासा किया है, जिसे सुनकर हर कोई सिहर उठा।

कार की डिक्की से गिरी सिर कटी लाश
‘डेली मेल’ की रिपोर्ट के मुताबिक, जिस शख्स को पुलिस ने Sortavala शहर से गिरफ्तार किया है, उसका नाम येगोर कोमारोव (Yegor Komarov) है। कोमारोव की उम्र 23 वर्ष है। उसकी कार ने बैरिकेड में टक्कर मार दी थी, जिससे कार की डिक्की खुल गई। डिक्की खुलते से उससे बिना सिर की लाश (Headless Corpse) सड़क पर गिर पड़ी. ये देखते ही पुलिसवालों के होश उड़ गए। उन्होंने भागने की कोशिश करते हुए कोमारोव को पकड़ लिया।

50 साल के व्यापारी को थी सिर कटी लाश
बताया गया कि सिर विहीन लाश सेंट पीटर्सबर्ग के एक 50 वर्षीय व्यवसायी की है। पुलिस को कोमारोव की कार में ताश के पत्ते, रस्सी और बोरे मिले। कोमारोव के साथ उसके दो साथी भी थे। जांचकर्ताओं ने कहा कि तीनों संदिग्धों के साथ बहस के दौरान व्यवसायी की हत्या की गई। वे लाश को जंगल में दफनाने जा रहे थे, लेकिन उससे पहले ही पकड़े गए।

मांस का स्वाद लेने के लिए की हत्या
पूछताछ के दौरान कोमारोव ने सनसनीखेज खुलासे किए। उसने कहा, ‘सामान्य तौर पर, मुझे लोगों को मारना पसंद है।’ कोमारोव ने पिछले साल सेंट पीटर्सबर्ग में एक 38 वर्षीय व्यक्ति की चाकू मारकर हत्या की थी, ताकि वह ‘मानव मांस’ का स्वाद ले सके।

खून और मांस का स्वाद चखा : कोमारोव
नरभक्षी कोमारोव ने कहा, ‘जब वह मर गया तो मैंने उसकी गर्दन काट दी और खून और मांस का स्वाद चखा, लेकिन पूरा मांस काटना मुश्किल था, क्योंकि चाकू में धार नहीं थी और मुझे उसकी नसों का स्वाद पसंद नहीं था।’

जीभ काटकर फ्राई की
उसने यह भी बताया कि ’38 वर्षीय व्यक्ति के शव को पास के नाले में फेंकने से पहले उसने उस व्यक्ति की जीभ काट दी, उसे घर ले गया और मक्खन से फ्राई किया। मगर इसका स्वाद भी मुझे पसंद नहीं आया।’

नरभक्षी और उसके दो दोस्त पुलिस हिरासत में
रूसी मीडिया ने बताया है कि कोमारोव का जन्म सेंट पीटर्सबर्ग में हुआ था। वह अपने माता-पिता और दादी के साथ एक अपार्टमेंट में रह रहा था। कोमारोव के एक साथी का नाम यान शचेपानोव्स्की है, जिसके बारे में कहा जा रहा है कि वह पूर्वी यूक्रेन के लुहान्स्क से आया था। जबकि उसका तीसरा साथी कोमारोव के साथ ही रहता था और उसकी कार चलाता था। फिलहाल ये तीनों पुलिस की गिरफ्त में हैं।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here