– मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार दिल्ली में उत्तराखंड सदन पहुंचे सीएम तीरथ

नई दिल्ली, डीडीसी। चुनाव से ऐन पहले त्रिवेंद्र सिंह रावत को मुख्यमंत्री पद से हटाया गया। तीरथ सिंह रावत नए मुख्यमंत्री बने तो धड़ाधड़ त्रिवेंद्र के लिए फैसले बदले जाने लगे। त्रिवेंद्र ने कुंभ स्नान को लेकर भी बेहद कड़े नियम बनाए थे, लेकिन इन्हें भी तीरथ ने बदल डाले। पहले कोविड रिपोर्ट स्नान से पहले अनिवार्य थी और इस अनिवार्यता को पूरी तरह समाप्त कर दिया गया है। तीरथ के ताजा लिए एक और फैसले में उन्होंने कहा है कि जनता जो चाहेगी, वही होगा। सरकार जनभावनाओं को ध्यान में रखते हुए ही काम करेगी और जो जनता चाहेगी, सरकार वही करेगी।

पहली बार दिल्ली पहुंचे तो हुआ भव्य स्वागत
राज्य के सीएम का पदभार संभालने के बाद पहली बाद दिल्ली पहुंचे सीएम का उत्तराखंड सदन में भव्य स्वागत हुआ। सीएम ने इस अवसर पर अपने ताजा फैसलों का जिक्र करते हुए कहा कि मुझे सीएम बने अभी एक हफ्ता ही हुआ है। इस अवधि में जनभावनाओं के अनुसार कई अहम फैसले लिए गए हैं। सीएम ने साफ किया कि कुंभ मेले में केंद्र सरकार की सुरक्षा गाइड लाइन का पालन किया जाएगा, लेकिन अनावश्यक रोकटोक नहीं होगी। कुंभ स्नान के लिए देश-विदेश के सभी श्रद्धालुओं को कुंभ स्नान के लिए हरिद्वार आंमंत्रित किया गया है।

पहाड़ पर प्राधिकरण खत्म, मुकदमे वापस
सीएम तीरथ सिंह रावत ने कहा कि कोरोनाकाल में जिन 4500 लोगों पर महामारी एक्ट के तहत मकदमे दर्ज किए गए थे, उन मुकदमों को सरकार ने वापस लिया। इनमें से अधिकांश मुकदमे उन लोगों पर दर्ज थे जो कारोनाकाल में जरूरतमंदों की मदद में लगे हुए थे। विकास प्राधिकरणों की मनमानी से पहाड़ी क्षेत्र के लोग त्रस्त थे। हमारी सरकार ने देर लगाए बगैर पहाड़ी जिलों में प्राधिकारणों का अस्तित्व समाप्त कर दिया है।

सरकार प्रवासियों को दे रही ब्याज रहित ऋण
सीएम ने कहा कि कोरोना के प्रभाव से घर लौटे प्रवासी उत्तराखंडियों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए जा रहे हैं। उन्हें स्वरोजगार शुरू करने के लिए ब्याज रहित ऋण मुहैया करवाया जा रहा है। उनकी हर समस्या का समाधान सरकार करेगी। उन्होंने उत्तराखण्ड मूल के लोगों से आग्रह किया कि वे भी उत्तराखण्ड राज्य के विकास और जनकल्याण में अपना योगदान दें। इस दौरान नैनीताल के सांसद श्री अजय भट्ट, शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे, पूर्व सांसद बलराज पासी आदि मौजूद रहे।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here