– उत्तराखण्ड मुक्त विश्व विद्यालय में सीएम त्रिवेन्द्र ने किया 26 करोड 18 लाख के कार्यों का लोकार्पण व शिलान्यास

हल्द्वानी, डीडीसी। उत्तराखण्ड मुक्त विश्व विद्यालय हल्द्वानी की सूरत बदलने वाली है। हल्द्वानी पहुंचे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने विश्व विद्यालय को करोड़ों रुपये की सौगात दी। सीएम विश्व विद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में शिरकत कर रहे थे और यहीं से उन्होंने घोषणा की और कहा कि जल्द ही देहरादून में भी मुक्त विश्व विद्यालय कैम्पस बनाया जाएगा। इसके लिए उन्होंने जमीन देने की घोषणा की। सीएम में विश्व विद्यालय के लिए करीब 26 करोड 18 लाख के कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया।

ये-ये होगा 26 करोड़ 18 लाख से
26 करोड़ 18 लाख में से 4 करोड़ 27 लाख 21 हजार से नव निर्मित भवन का लोकार्पण व शिलान्यास, 87.48 लाख से कुलपति आवास कार्य, 362.70 लाख से अतिथि गृह, 293.70 लाख से बहुउद्देशीय हाॅल, 228.93 लाख से दो ब्लाॅक टाईप-2 के 12 आवासों, 612.16 लाख से विज्ञान ब्लाॅक, 77 लाख से परिसर आन्तरिक सड़कें, 494.52 लाख से अध्ययन सामग्री उत्पादन एवं वितरण ब्लाक, 33.86 लाख से परिसर में ड्रेनेज एवं पाथ के काम किए जाएंगे।

देश का पहला राज्य बना उत्तराखंड
यहां सीएम ने अपने संबोधन में कहा उत्तराखण्ड देश का प्रथम राज्य है जहां महिलाओं को पैतृक सम्पत्ति का अधिकार सरकार ने दिया है। महिलाओं को आगे बढ़ाने में ये कदम महत्वपूर्ण साबित होगा। इससे समाज में क्रान्तिकारी व सकारात्मक परिवर्तन आयेगा। सीएम त्रिवेंद्र ने कहा कि दूरस्थ शिक्षा से कोई भी व्यक्ति अपनी सेवा के साथ योग्यता बढा सकता है। सभी विश्व विद्यालय अपनी स्किल बढ़ाकर सरकारों को योजना बनाने में सुझाव दें, ताकि प्रदेश मे धरातलीय योजना बनाकर त्वरित सकारात्मक विकास हो सके।

गांव को 1 और शहर को सौ रुपये में बिजली कनेक्शन
सीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री ने देश में जल-जीवन मिशन शुरू किया है और हम केन्द्र के सहयोग से ग्रामीण क्षेत्र मे मात्र एक रूपये व शहरी क्षेत्रों में मात्र सौ रूपये में पेयजल संयोजन दे रहे है। प्रदेश में नदी, नालों, जलस्रोत्रों को पुर्नजीवित करने की पहल बड़े स्तर पर की जा रही है। आगामी 16 जुलाई को हरेला दिवस पर व्यापक पौधारोपण किया जायेगा। उन्होंने जनता से हरेला दिवस पर पौधारोपण में सहभागिता करने की अपील की।

महिलाओं के लिए आएगी मुख्यमंत्री घसियारी योजना
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने कहा कि सरकार महिलाओं की पीड़ा को समझते हुए उन्हें सशक्त बनाने हेतु मुख्यमंत्री घस्यारी योजना संचालित करने जा रही है। इसके तहत सस्ता गल्ला के तर्ज पर प्रदेेश में 7771 केंद्रों के माध्यम से गांवों तक पशुओं को सस्ता चारा उपलब्ध कराया जायेगा। प्रदेश में 20 हजार महिला समूहों को 5 लाख का ब्याज मुक्त ऋण शीघ्र दिया जायेगा। किसानों को बिना ब्याज ऋण दिया जा रहा है। जिनके पास कृषि उपकरण नहीं है, उनके लिए फार्म मशीनरी बैंक योजना शुरू की गई है। इसमें किसानों को 80 प्रतिशत तक सब्सिडी उपलब्ध कराई जा रही है। पर्यटन को उद्योग का दर्जा दिया और होम-स्टे अब ग्रामीणों की आजीविका का साधन बन रहा है। 13 जिलों में 13 नए थीम बेस्ड डेस्टीनेशन विकसित किये जा रहे है

कालेज में 90 हजार महिलाएं, 55 प्रतिशत महिलाएं
उच्चशिक्षा राज्य मंत्री डा. धन सिंह रावत ने उत्तराखण्ड विश्वविद्यालय में लोकार्पण व शिलान्यास पर सभी को बधाई दी और कहा कि मुक्त विश्वविद्यालय में लगभग 90 हजार शिक्षार्थी शिक्षा ग्रहण कर रहे है, जिसमे 55 प्रतिशत महिलायें है। एक वर्ष में सरकार ने एक हजार प्रोफेसरों की नियुक्ति की है। शीघ्र ही चार लाख विद्यार्थियों को वाईफाई से जोडा जायेगा। डेयरी योजना मे दुग्ध उत्पादन को प्रोत्साहित करने हेतु दुग्ध उत्पादक को 4 रूपये प्रोत्साहन राशि सरकार दे रही है।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here