– कोरोना के चलते खस्ता हुई देहरादून की हालत

देहरादून, डीडीसी। देश कोरोना से जूझ रहा है और अछूता उत्तराखंड भी नही है। हालात यहां भी दिन-ब-दिन बदतर होते जा रहे हैं। संक्रमण बढ़ रहा है और साथ ही मौतों का आंकड़ा भी। हालात देहरादून में सबसे ज्यादा खराब हैं। जहां अस्पताल फुल हो चुके हैं। बेड और ICU में जगह नही बची है और जगह तो अब यहां के शमशान में भी नही बची है। अंतिम संस्कार के लिए लाशों को अब अपनी बारी का इंतजार करना पड़ रहा है।

शमशान में लगी है लाशों की कतार
अब दिल्ली जैसे हालात देहरादून के कोविड शमशान घाटों पर नजर आ रही है। अब लाशों का अंतिम संस्कार करने के लिए इंतजार करना पड़ रहा है। इसकी एक वजह ये भी है कि इस कोविड शमशान घाट पर जौलीग्रांट से भी शव अंतिम संस्कार के लिए आ रहे हैं। यहां मुख्य सड़क पर वाहनों की लंबी लाइन लगी है।

शव ढोने के लिए भी चुकानी पड़ रही अधिक कीमत
दून अस्पताल में मॉर्चरी के बाहर सुबह से लोगों की भीड़ थी। पहले एंबुलेंस का इंतजार और एंबुलेंस न मिलने पर बाहर मनमानी कीमत चुकानी पड़ रही थी। तब जा कर परिजन अपने शव ले जा पा रहे थे। पता तो ये भी लग रहा है कि शमशान घाट पर भी मृतकों के परिजनों से अंतिम संस्कार के लिए मनमानी रकम वसूली जा रही है।

एम्बुलेंस में ऑक्सीजन सपोर्ट पर चक्कर काट रहे मरीज
देहरादून और ऋषिकेश के प्रमुख अस्पतालों के कोविड बेड कोरोना मरीजों से भर गए हैं। गंभीर कोरोना मरीजों का इलाज मुश्किल हो गया है। एंबुलेंस में आक्सीजन सपोर्ट पर मरीज अस्पतालों के चक्कर काट रहा है। इस तरह के हालात से देहरादून को पहली बार दो-चार होना पड़ा है। दून अस्पताल में बुधवार सुबह सात बजे ही आईसीयू, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन बेड फुल हो गए और सुबह एक घंटे के भीतर वहां से करीब दो दर्जन मरीजों को वापस लौटना पड़ा। यही हाल प्राइवेट अस्पतालों का भी था। आलम ये था कि दून अस्पताल की गैलरी में ऑक्सीजन बेड लगाए गए।

तीन गुना बढ़ी ऑक्सीजन की डिमांड
राज्य में कोरोना संक्रमण में तेजी और गंभीर मरीजों की संख्या में इजाफे से ऑक्सीजन की मांग तीन गुना तक बढ़ गई है। मांग में बढ़ोत्तरी की वजह से कुछ स्थानों पर ऑक्सीजन की कीमतों में उछाल भी आया है। हालांकि राज्य भर के अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति पर्याप्त मात्रा में हो रही है और कहीं भी किल्लत जैसी नौबत नहीं है। हालांकि हरिद्वार के अस्पतालों में ऑक्सीजन की भारी मांग की वजह से ऑक्सीजन के दामों में 40 फीसदी तक का इजाफा हुआ है।

हल्द्वानी में तीन गुना हुई खपत
हल्द्वानी के सरकारी व प्राइवेट अस्पतालों में ऑक्सीजन की मांग तीन गुना हो गई है। हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज समेत सात निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों का इलाज किया जा रहा है। इन अस्पतालों में रोजाना 200 ऑक्सीजन सिलेंडरों की खपत होती थी, जो अब बढ़कर 600 के पार पहुंच गई है। हालांकि ऑक्सीजन सप्लाई में कहीं कोई दिक्कत नहीं है और दामों में भी इजाफा नहीं हुआ है। इसके अलावा पिथौरागढ़, यूएसनगर, चम्पावत, अल्मोड़ा और बागेश्वर जिलों में भी आक्सीजन की कोई कमी नहीं है।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here