• – केरल जैसी घटना की हल्द्वानी में पुनरावृत्ति, केरल में बम धमाके से उड़ गया था हाथी का जबड़ा

हल्द्वानी, डीडीसी। केरल में एक गर्भवती हथिनी के साथ हुई हैवानियत हूबहू पुनरावृत्ति हल्द्वानी के कमलुवागांजा में हुई। केरल में अनानास छिपा बम हथिनी चबा गई और उसकी मौत हो। ठीक ऐसी ही वारदात को हल्द्वानी में कमलुवागांजा स्थित बंद पड़ी स्टील फैक्ट्री में अंजाम दी गई। यहां निवाला समझ कर एक गाय आटे की लोई में छिपा कर रखे गए बम को चबा गई और जोरदार धमाके के साथ उसका जबड़ा उड़ गया। गाय अभी जिंदा है, लेकिन कुछ खा पाने की हालत में नहीं है। ऐसे में गाय कितने दिन जिंदा रहेगी, कुछ कह पाना मुश्किल है।

29 दिसम्बर को अंजाम दी गई वारदात
ये घटना बीते वर्ष 29 दिसंबर में सुबह 11 बजे की है। गिरिजा विहार कमलुवागांजा निवासी दिनेश जोशी पेशे से टेलर है और घर में तीन गाय हैं। उन्होंने बताया कि घटना के रोज उनकी तीन वर्ष की गाय फंदा तोड़ कर घर से निकल गई और पास ही स्थित बंद पड़ी स्टील फैक्ट्री में चली गई। पूरी तरह जंगल में तब्दील हो चुकी फैक्ट्री में किसी शिकारी ने शिकार करने के लिए आटे की लोई में बंम छिपा कर रखा था।

दांतों के नीचे आता ही फटा बम
दिनेश की गाय आटे की लोई को निवाला समझ कर चबा गई और जैसे ही लोई दांतों के नीचे आई तो बम जोरदार धमाके के साथ फट गया। इससे गाय का जबड़ा उड़ गया और लहूलुहान हालत में गाय घर की ओर भाग खड़ी हुई। घरवालों ने जब गाय की हालत देखी तो वह भौचक्के रह गए। आनन-फानन में उन्होंने इसकी लिखित सूचना पुलिस को दी। घटना के बाद बजरंग दल और गौ सेवक संघ की मदद से घायल गाय को हल्दूचौड़ स्थित गौ धाम भेजा गया।

खाने पीने की हालत में नही गाय
गौशाला में उसका इलाज तो चल रहा है, लेकिन वह कुछ खा-पी पाने की हालत में नहीं है। इस मामले में मुखानी थाने की गांधी आश्रम पुलिस चौकी प्रभारी बीआर पौरी ने बताया कि मामले में दो लोगों को हिरासत में लिया है। जिनसे पूछताछ की जा रही है।

पुलिस ने दर्ज नहीं की रिपोर्ट
गाय स्वामी दिनेश जोशी ने घटना के रोज ही पुलिस को लिखित तहरीर दी थी, लेकिन उस वक्त प्रधानमंत्री की जनसभा में व्यवस्तता का हवाला देकर पुलिस ने मामले को टाल दिया और रिपोर्ट बाद में दर्ज करने को कहा। 30 दिसंबर को प्रधानमंत्री की जनसभा भी गुजर गई, लेकिन पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की। इससे गौ सेवकों में नाराजगी है।

केरल के मल्लपुरम में हुई थी गर्भवती हथिनी की मौत
एक ऐसी ही घटना केरल के मल्लपुरम में हुई थी। यह घटना बीते वर्ष जून की थी। जहां शिकारियों ने एक अनानाश में बम छिपा कर रखा था और एक गर्भवती हथिनी ने पेट भरने के लिए अनानास खा लिया। जिसके बाद अनानास में भरा बारूद उसके मुंह में फट गया और गर्भवती हथिनी की मौत हो गई। अब ठीक ऐसी ही घटना यहां कमलुवागांजा में घटी है।

बड़े अधिकारियों के सामने उठाएंगे मामला
समाजसेवी मंजू भट्ट, बजरंग दल के जिला सह संयोजक जोगेंदर राणा और गौ सेवा संघ के जिलाध्यक्ष चंदू मेहता ने बताया कि मुखानी पुलिस इस मामले में पूछताछ तो कर रही है, लेकिन जांच सही दिशा में नहीं जा रही और न ही अभी तक पीड़ित की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज की है। अब वह इस मामले को लेकर जिले के आलाधिकारियों से मिलेंगे और रिपोर्ट दर्ज करने की मांग करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here