– लौटी तो शादी और 2 साल के बेटे के साथ

बदायूं, डीडीसी। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बदायूं (Badaun) जिले से एक मामला सामने आया, जिसने लोगों को हैरत में डाल दिया। मामला एक बहू और उसके ससुर से जुड़ा है। जिसमे बहू को अपने ही ससुर के साथ ब्याह रचाने की बात सामने आई है। बताया जा रहा है कि लड़के के नाबालिग होने के कारण लड़की ने अपने ही ससुर से शादी करने का फैसला कर लिया। इसके बाद ही दोनो घर छोड़कर फरार हो गए और कोर्ट में शादी कर ली।

बीवी की मौत के एक साल बाद कराई थी बेटे की शादी
मामला बिसौली कोतवाली क्षेत्र के दबथरा गांव का है। जहां एक नाबालिग की शादी कुंवरगांव थाना क्षेत्र में एक लड़की के साथ 2016 में शादी हुई थी। उस समय देवानंद के पुत्र सुमित की (15) साल उम्र में शादी हुई थी। सुमित की मां की मृत्यु 2015 में हो गई थी। इसी के चलते उसके पिता देवानंद ने अपने बेटे की शादी जल्दी 2016 में कर दी थी। शादी के कुछ समय बाद देवानंद ससुर अपनी बहू को अपना दिल दे बैठा। दोनों ने आपस में प्रेम संबंध हो गए।

पसंद नही था पति, जबरन हुई थी शादी
आपको बता दे साल 2016 में सुमित की शादी उस लडकी से की गई थी लेकिन लड़की को सुमित पसंद नहीं था। घरवालों की मर्जी के कारण लड़की ने बिना किसी मन के सुमित से शादी कर ली। बाद में जब वो अपने ससुर से मिली तो उन्हें कुछ ही दिनों के अंदर अपना दिल दे बैठी। इसके बाद दोनो घर से फरार हो गए और सुमित के बालिग होने पर उसे तलाक दे दिया। सूत्रों के हवाले से मिली खबर में पता लगा की सुमित के पिता का उसकी पत्नी के साथ में एक दो साल का बेटा भी है।

हाथ थाम एक दूजे के हुए ससुर और बहु
लड़की ने अपने ससुर के साथ शादी कर लेने के कारण साथ रहने की हामी भर दी। लड़की ने इस शादी के लिए अपनी सहमति दर्शाते हुए कहा कि जब सुमित से उसकी शादी की गई तब वो नाबालिग था और मैने सारे कानूनी कार्रवाई को ध्यान में रखते हुए दूसरे व्यक्ति से शादी की है ताकि इसमें कोई कानूनी अड़चन न आ सके।

पति से तलाक, ससुर से शादी और 2 साल का बेटा
शादी के 6 महीने बाद ही बहू अपने पति को छोड़ कर चली गई थी और कुछ समय बाद ससुर अपनी बहू को लेकर फरार हो गया। साल 2016 में पत्नी ने पति से तलाक लिया और ससुर के साथ शादी कर ली। ससुर देवानंद सफाई कर्मचारी था। बताया जाता है कि देवानंद और उसकी पुत्र वधू से एक बेटा भी है जो अब 2 साल का हो गया है। सुमित पत्नी और पिता की तलाश में घूमता रहा और शिकायत व आरटीआई बिसौली कोतवाली में लगाई।

बोला, मेरे और भाई की परवरिश का खर्चा दे पिता
बिसौली कोतवाल ऋषि पाल सिंह ने बताया कि सुमित जुआ और नशे का आदी था, जिसके चलते उसकी पत्नी ने तलाक ले लिया। पत्नी से पिता की शादी की जानकारी सुमित को थी, लेकिन वह अपने लिए खर्चों की मांग लगातार करता था। विवाद बढ़ा तो सुमित और लड़की को थाने बुलाया। पंचायत हुई और सुमित अपनी व छोटे भाई की देखरेख की जिम्मेवारी पिता देवानंद को उठाने के लिए कहा, जिस पर दोनों में विवाद अभी खत्म नहीं हुआ है।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here