– नशे की हालत में सोया और फिर सुबह मिला उसका शव

हल्द्वानी, डीडीसी। हल्द्वानी के प्रतिष्ठित व्यापारी के मशहूर कपिलाज रेस्टोंरेट में एक लाश मिली और कर्मचारी पूरी रात लाश के साथ सोते रहे। ये लाश रेस्टोरेंट में काम करने वाले कर्मचारी की थी, लेकिन उसकी मौत कैसे हुई, ये अभी रहस्य है। मुखानी पुलिस मामले की जांच कर रही है।

मूलरूप से अल्मोड़ा निवासी प्रदीप सिंह (38) पुत्र स्व.ठाकुर सिंह पिछले कई सालों से मुखानी थानाक्षेत्र के कालाढूंगी रोड स्थित कपिलाज रेस्टोरेंट में बतौर हेल्पर काम करता था। पांच दिन पूर्व प्रदीप छुट्टी लेकर घर गया था, लेकिन वह घर रुका नहीं। अगले ही दिन प्रदीप घर से हल्द्वानी के लिए निकल गया, लेकिन वो यहां भी नहीं पहुंचा।

रेस्टोरेंट में गाड़ी चलाने वाले चंदन ने बताया कि रविवार की शाम करीब साढ़े पांच बजे प्रदीप रेस्टोरेंट पहुंचा और वो शराब के नशे में बुरी तरह चूर था। प्रदीप सीधे सर्वेंट क्वाटर में चला गया।

रात तकरीबन साढ़े दस बजे काम से फ्री होने के बाद अन्य कर्मचारी सर्वेंट क्वाटर पहुंचे तो प्रदीप पेट के बल सो रहा था। उसे किसी ने परेशान नहीं किया और अन्य कर्मचारी भी सो गए। सुबह काम के लिए सब समय से उठ गए, लेकिन प्रदीप नहीं उठा।

जब उठाने पर भी प्रदीप टस से मस नहीं हुआ तो सूचना रेस्टोरेंट मालिक को दी गई। जिसके बाद चंदन अन्य कर्मचारियों की मदद से आनन-फानन में प्रदीप को एसटीएच लेकर पहुंचा, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

इस मामले में प्रदीप के परिजनों की ओर से तहरीर नहीं दी गई है। मुखानी थानाध्यक्ष दीपक सिंह बिष्ट का कहना है कि मृतक शराब का लती था। प्राथमिक जांच में हत्या जैसी कुछ बात सामने नहीं आई। जांच शुरू कर दी गई। बाकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा।

पत्नी से हो चुका था तलाक
प्रदीप शादीशुदा था और उसका अपनी पत्नी से तलाक हो चुका था। तीन भाई-बहनों में प्रदीप बीच का था और पिता ठाकुर की करीब चार साल पहले मौत हो चुकी थी। छोटी बहन की शादी हो चुकी है और बड़ा भाई चंदन गांव में कास्तकारी कर अपने परिवार व मां नंदी देवी की देखभाल करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here