– न्यूजीलैंड में लागू हुआ इच्छा मृत्यु कानून, बना दुनिया का 10वां देश

न्यूजीलैंड, डीडीसी। न्यूजीलैंड में रविवार से इच्छा-मृत्यु का कानून लागू कर दिया गया है। इस कानून के लागू होने के साथ ही न्यूजीलैंड उन देशों में शामिल हो गया है, जहां इच्छा मृत्यु को कानूनी दर्जा हासिल है। बता दें कि इससे पहले स्विट्जरलैंड, नीदरलैंड, स्पेन, बेल्जियम, लग्जमबर्ग, कनाडा, आस्ट्रेलिया, कोलंबिया में ही इच्छा मृत्यु को कानूनी मान्यता दी गई है। न्यूजीलैंड इस कानून को लागू करने वाला दसवां देश बन चुका है।

इच्छा मृत्यु को मर्सी किलिंग भी कहते हैं
इच्छामृत्यु का मतलब किसी गंभीर और लाइलाज बीमारी से पीडि़त व्यक्ति को दर्द से मुक्ति दिलाने के लिए डाक्टर की सहायता से उसके जीवन का अंत करना है। यूथनेशिया मूलत: ग्रीक (यूनानी) शब्द है, जिसमें ईयू का मतलब अच्छी और थानाटोस का अर्थ मृत्यु होता है। इसे मर्सी किलिंग भी कहा जाता है।

लाइलाज हो बीमारी, तभी मिलेगी इजाजत
दुनियाभर में इच्छा-मृत्यु की इजाजत देने की मांग बढ़ी है। बता दें कि न्यूजीलैंड में उसी व्यक्ति को इच्छा मृत्यु दी जाएगी, जिसे ऐसी बीमारी है, जिससे अगले छह महीने के अंदर उसकी मौत हो जाएगी। इस दौरान वह काफी दर्द से गुजर रहा है, तो वह इच्छा मृत्यु की मांग कर सकता है।

जनमत संग्रह में मिले कानून को 65% वोट
किसी भी व्यक्ति को इच्छा मृत्यु देने के लिए कम से कम दो डाक्टरों की सहमति आवश्यक है। बता दें कि न्यूजीलैंड में इच्छा मृत्यु के लिए कानून लागू करने के लिए जनमत संग्रह कराया गया था। जनमत संग्रह के दौरान 65 फीसदी वोट इस कानून के पक्ष में डाले गए थे।

क्या कहता है भारतीय कानून
भारत में इच्छा-मृत्यु और दया मृत्यु दोनों ही अवैधानिक कृत्य हैं, ये भारतीय दंड विधान (आईपीसी) की धारा 309 के अंतर्गत आत्महत्या का अपराध है, लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट ने निष्क्रिय इच्छामृत्यु को अनुमति प्रदान की है।

इन देशों में है प्रावधान
अमरीका: यहां सक्रिय इच्छा मृत्यु गैर-कानूनी है, लेकिन ओरेगन, वाशिंगटन और मोंटाना राज्यों में डाक्टर की सलाह और उसकी मदद से ‘इच्छामृत्यु’ की इजाजत है।

स्विट्जरलैंड : यहां खुद से जहरीली सुई लेकर आत्महत्या करने की इजाजत है, हालांकि इच्छा मृत्यु गैर- कानूनी है।

नीदरलैंड्स : यहां डाक्टरों के हाथों सक्रिय इच्छामृत्यु और मरीज की मर्जी से दी जाने वाली मृत्यु पर दंडनीय अपराध नहीं है।

बेल्जियम : यहां सितंबर 2002 से इच्छामृत्यु वैधानिक हो चुकी है। ब्रिटेन, स्पेन, फ्रांस और इटली जैसे यूरोपीय देशों सहित दुनिया के ज्यादातर देशों में इच्छा मृत्यु गैर-कानूनी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here