सर्वेश तिवारी, डीडीसी। बिहार चुनाव में लालू की पार्टी एग्जिट पोल की लौ से रोशन होती दिख रही है। ऐसे में पार्टी के भीतर जश्न जैसा माहौल बन चुका। इस पर दिखाई देती जीत से पहले तेजश्वी यादव का जन्मदिन भी है। फिर तो जश्न दोगुना बनाता है, लेकिन इन सब के बीच एक खबर और आ गई। पता लगा कि जीत के बाद जश्न पर पाबंदी है, लेकिन र जन्मदिन के जश्न की तैयारियां जारी है। बता दें कि जीत का जश्न कोरोना के चलते खारिज किया गया है। फिर लालू के जेल में रहना भी पार्टी को अखर रहा है। कहा के भी का रहा है कि लालू की रिहाई के बाद ही दिवाली मनाई जाएगी।
बताया जाता है, बिहार चुनाव में आरजेडी की जीत की संभावनों को देखते हुए कार्यकर्ताओं के लिए दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। उम्मीदवारों से कहा गया है कि जीत को लेकर न तो कोई जुलूस निकालें और न ही पटाखे जलाए। कहने का मतलब कि अब कार्यकर्ता न तो सड़क पर पटाखे फोड़ सकेंगे और ही हुड़दंग दिखाई देगा। ऐसे में जुलूस निकालने पर भी रोक रहेगी। पार्टी की ओर से कहा गया है कि पार्टी की आस्था लालू यादव में है और व्यवस्था की जिम्मेदारी तेजस्वी यादव को जनता देने जा रही है। इसलिए लालू यादव जब जेल से बाहर आएंगे, तभी पार्टी होली-दीवाली मनाएगी। आरजेडी ने पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए अपने सोशल मीडिया हैंडल के जरिए ट्वटी कर ये निर्देश जारी कर दिए हैं। गौरतलब है कि 10 नवंबर को बिहार चुनाव के परिणाम आएंगे और उससे पहले तेजस्वी यादव का जन्मदिवस भी है। तेजस्वी कल 31 वर्ष के होने जा रहे हैं, इसलिए पार्टी ने निर्देश दिया है इस बार भी पिछले साल जैसा ही मनाया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here