भागलपुर, डीडीसी। अपराधों का राज्य बिहार और इसी बिहार में इस बार एक महिला की आबरू उसी के पति ने सरेबाजार बेंच डाली। पहले तो बीवी दोस्तों से जुंए में हारी, फिर दोस्तों के ही आगे परोस दी। हद तो तब हुई जब पति का हैवानी रूप सामने आया। उसने बड़ी निर्ममता से अपनी बीवी के प्राइवेट पार्ट और चेहरे को तेजाब से जला डाला। आप जानकर हैरान हो जाएंगे कि ये सजा इस औरत को सिर्फ इसलिए दी गई, क्योंकि शादी के सालों बाद भी वो मां नही बन सकी।

पूरा मामला बिहार में भागलपुर जिले के मोजाहिदपुर थाना इलाके का है। यहां रहने वाले सरोज की शादी 10 साल पहले लोदीपुर थाना इलाके की एक लड़की से हुई थी, लेकिन शादी के इतने साल गुजर जाने के बाद भी सरोज बाप नही बन पा रहा था। सरोज इन सबकी वजह सिर्फ और सिर्फ अपनी पत्नी को मानता था। ये वजह दोनों के बीच विवाद का कारण बन गया। सरोज अक्सर पत्नी को शराब पीकर पीटने लगा। पानी तब सिर के ऊपर से गुजर गया, जब दारू के नशे में धुत सरोज जुंए की फड़ पर बैठ गया। जब जेब के पैसे खत्म हुए तो उसने आखिरी दांव पर अपनी बीवी लगा और ये दांव भी सरोज हार गया। इसके बाद सरोज ने अपनी पत्नी को अपने दोस्तों के सामने फेंक दिया। दोस्तों ने भी एक-एक कर उसकी आबरू को तार-तार कर दिया। हैवान पति तमाशबीन बना खड़ा था और जब तमाशा खत्म हुआ तो पति की हैवानियत जागी। पति ने बड़ी बेरहमी के साथ अपनी पत्नी का चेहरा और प्राइवेट पार्ट जला डाले। इसके लिए उसने तेजाब का इस्तेमाल किया

अस्पताल से भाग कर बचाई जान
पीड़िता की माने तो उसे इस घटना के बाद गंभीर अवस्था में एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया। भर्ती कराने वाले भी उसके ससुराली थे और केवल इस शर्त पर भर्ती कराया था कि वो किसी के सामने अपना मुंह नही खोलेगी। अस्पताल में उस पर हमेशा नजर रखी जा रही थी। एक रोज मौका पाकर वो भाग निकली और छिपते-छिपाते मायके जा पहुंची। जिसके बाद मामला पुलिस तक पंहुचा। जिसके बाद आरोपी को हिरासत में ले लिया गया।

क्या खुद हैवान में था बाप बनने का दम
जिस तरीके के सरोज के लक्षण थे, उसको हैवान कहना गलत नही होगा। पिछले कई सालों से सरोज अपनी पत्नी को शारीरिक और मानसिक प्रताड़ना दे रहा था। फिर भी पीड़िता ने 10 साल सरोज के साथ गुजार लिए। बच्चा न होने का इल्जाम सरोज हमेशा अपनी पत्नी के सिर मढ़ता था, लेकिन कभी खुद ये जानने की कोशिश नही की कि वो खुद भी बाप बनने का दम रखता है या नही।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here