न्यूज डेस्क, डीडीसी। ये रत्न हैं और रत्नों का अगर मेल सही है तो आप मालामाल हो सकते हैं, लेकिन अगर मेल सही नहीं है तो आपकी जिंदगी के सारे खेल फेल ही साबित होंगे। बेशकीमती रत्न ज्योतिष के नजरिये से बेहद खास माने जाते हैं और हर कोई किसी भी रत्न को यूं ही धारण भी नहीं कर सकता। रत्नों को किसी जानकार से पूछ कर ही शरीर में धारण करना चाहिए। अमूमन देखने में आता है कि लोग खूबसूरत दिखने वाले रत्नों को यूं ही धारण कर लेते हैं और वह भी एक से अधिक की गिनती में। ऐसे में अगर इन गिनतियों को मेल सही है तो समझ लीजिए सब सही है, लेकिन अगर ऐसा नहीं है तो जीवन दुश्वारियों से भर सकता है। तो आइए जानते है कौन सा रत्न किस रत्न के साथ धारण नहीं करना चाहिए।

पन्ना के साथ धारण न करें ये रत्न
पन्ना बुध का रत्न होता है, इसे पहनने से बुध ग्रह संबंधी सभी दोष खत्म हो जाते हैं। अगर बुध के साथ गलत रत्नों की संगत है तो ये आपको आर्थिक परेशानियों के चक्रव्यूह में फंसा सकते हैं। यानि आप जीवन भर आर्थिक रूप से परेशान रह सकते हैं। इसलिए पन्ना के साथ पुखराज, मूंगा और मोती पहनने से गुरेज करना चाहिए।

जीवन में आती है बीमारी और हादसे
जैसे पन्ना के साथ अन्य रत्नों की गलत संगत से आप आर्थिक रूप से परेशान रह सकते हैं, ठीक वैसे ही लहसुुनिया रत्न के साथ गलत रत्नों को धारण करने से आप मानसिक तनाव से गुजर सकते हैं। तनाव भी ऐसा कि जातक घातक कदम तक उठा सकता है। इसके धारण करने से सेहत खराब रहती है और सडक़ दुर्घटना का खतरा सिर पर मंडराता रहता है। तो ऐसे में लहसुनिया के साथ माणिक्य, मूंगा, पुखराज और मोती नहीं धारण करना चाहिए।

तनाव बढ़ाता है मोती के साथ गलत संगत
सभी रत्नों में मोती एक ऐसा रत्न है, जिसके बारे में साहित्यकारों ने भी खूब लिखा है। यूं कह लें कि रत्नों के बीच मोती लोगों का सबसे पसंदीदा रत्न है। ये रत्न चंद्रमा के अशुभ प्रभावों को दूर करते धारण करने वाले जातक को शांति प्रदान करता है। माना जाता है कि गुस्से को कंट्रोल करने में भी यह खासा सहायक है, लेकिन मोती के साथ गलत रत्नों की संगत मानसिक तनाव के साथ कई तरह की परेशानियां खड़ी कर सकता है। ऐसे में मोती के साथ हीरा, पन्ना, गोमेद, लहसुनिया और नीलम रत्न धारण नहीं करना चाहिए।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here