– आरोपी ने दोस्त के साथ मिलकर दिया वारदात को अंजाम

पौड़ी, डीडीसी। घर से बाजार का रही एक दलित लड़की को सेना के एक जवान और उसके दोस्त ने हवस का शिकार बना डाला। हद तो तब हो गई जब आरोपियों के खिलाफ आवाज उठाने पर आरोपी के घरवालों ने पीड़िता को अपने घर बंधक बना कर पीटा। बमुश्किल इनके चांगुलब्से बचकर भागी पीड़िता घायल अवस्था में इलाज के लिए अस्पताल पहुंची। फिलहाल, दोनों आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। वारदात पौड़ी तहसील के एक गांव की है।

मुकदमा दर्ज कराने के बाद बौखलाए आरोपी के घरवाले
मामले में राजस्व पुलिस की ओर से केस दर्ज करने के बाद आरोपियों के परिजनों ने युवती को घर बुलाया और उसकी जमकर पिटाई कर दी। युवती के हाथ और पैरों में चोटें आई हैं। घटना के बाद से दोनों आरोपी फरार हैं। एसडीएम के आदेश पर मामला रेगुलर पुलिस को सौंप दिया गया है। पौड़ी जिला अस्पताल में बुधवार को घायल हालत में आई दलित युवती ने बताया कि बीते 20 मार्च को वह अपने गांव से बाजार जा रही थी। इसी दौरान गांव के दो युवकों अमित सिंह और आशीष सिंह ने उसके साथ दुष्कर्म किया। अमित सिंह सेना का जवान है।

“मुकदमा लिखा, लेकिन राजस्व पुलिस ने कार्यवाही नही की”
वारदात को अंजाम देने के बाद अमित और आशीष लड़की को धमकाया की अगर इस बारे में किसी को बताया तो जान से मार देंगे। पीड़िता का कहना है कि इस बारे में उसकी ओर से राजस्व पुलिस में तहरीर दी गई थी। राजस्व पुलिस में 21 मार्च को दोनों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था, लेकिन आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। इस बारे में राजस्व उपनिरीक्षक गजेंद्र दत्त रतूड़ी ने बताया कि मामले में दोनों आरोपियों के खिलाफ एससी-एसटी ऐक्ट, दुष्कर्म और जान से मारने की धमकी दिए जाने का मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपी घटना के दिन से ही फरार हैं। गिरफ्तारी के लिए संभावित ठिकानों पर दबिश भी दी गई लेकिन कुछ पता नहीं चल सका।

रेगुलर पुलिस को ट्रांसफर किया गया मामला
पीड़िता का कहना है कि राजस्व पुलिस में मुकदमा दर्ज होने के बाद बुधवार को आरोपियों के परिजनों ने उसे घर बुलाया और मारपीट की। इससे उसके हाथ और पैरों में चोटें आई हैं। वह आरोपियों के परिजनों से किसी तरह बचकर पौड़ी जिला अस्पताल में इलाज के लिए पहुंची। यहां उसने मीडिया को सारी जानकारी दी। एसडीएम एसएस राणा ने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए इस मामले को रेगुलर पुलिस को सौंप दिया गया है।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here