– प्रेमिका द्वारा लगातार नजरअंदाज करने से हुआ प्रेमी को शक

नई दिल्ली, डीडीसी। राजधानी दिल्ली में एक सनकी प्रेमी ने चाकुओं से गोदकर पहले अपनी प्रेमिका की जान ले ली। इसके बाद उसने दिल्ली के कालिन्दी कुंज थाने में सरेंडर कर दिया। आरोपी ने पूछताछ में बताया कि गर्लफ्रेंड के किसी दूसरे संबंध थे और वह उसे नजरअंदाज करती थी, ऐसे में उसने ये कदम उठाया।

निजामुद्दीन की मदद प्यार में बदल गई
दरअसल, संगम विहार की रहने वाली 22 साल की राबिया की दिल्ली सरकार के सिविल डिफेंस में काम करती थीं। उसकी पोस्टिंग साउथ ईस्ट दिल्ली के SDM ऑफिस में थी। राबिया की पोस्टिंग के दौरान पहले से एसडीएम दफ्तर में तैनात 25 साल के निजामुद्दीन ने उसकी काफी मदद की थी। ऐसे में दोनों में दोस्ती हुई, फिर यह प्यार में बदल गई।

पूरा शरीर गोदा और कर दिया सरेंडर
राबिया और निजामुद्दीन की प्रेम कहानी में 26 अगस्त को एक खूनी मोड़ आया। निजामुद्दीन ने राबिया के पूरे शरीर को चाकुओं से गोद कर मौत के घाट उतार दिया। प्रेमिका की लाश को ठिकाने लगाने के बाद निजामुद्दीन ने दिल्ली के कालिन्दी कुंज थाने में सरेंडर कर दिया।

कोर्ट मैरिज के बाद बने किसी और से सम्बंध
पूछताछ में निजामुद्दीन ने खुलासा किया कि राबिया से प्यार होने के बाद दोनों ने साकेत कोर्ट में शादी कर ली थी, लेकिन राबिया के परिवार ने इससे इनकार कर दिया था। इसके बाद राबिया का किसी और से संबंध हो गया। वो लगातार निजामुद्दीन को इग्नोर कर रही थी।

निजामुद्दीन ने फोन कर राबिया को बुलाया
ऐसे में 26 अगस्त को निजामुद्दीन ने राबिया को कॉल करके लाजपत नगर बुलाया। दोनों फरीदाबाद के सूरज कुंड इलाके में पहुंचे। यहां दोनों में बहस हुई। इसके बाद निजामुद्दीन ने राबिया पर ताबड़तोड़ चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी।

साजिश के तहत हुआ कत्ल’
उधर, राबिया के परिवार वालों का दावा है कि उनकी बेटी का साजिश के तहत कत्ल हुआ. निजामुद्दीन ने घर से दफ्तर जाने के दौरान राबिया को उठाया और सूरज कुंड ले जाकर हत्या कर दी. परिवार ने पुलिस से इंसाफ की गुहार लगाई है.

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here