– भर-भर कर पैसा कमाने वालों पर टैक्स लगाने की तैयारी

न्यूज डेस्क, डीडीसी। यूट्यूब पर वीडियो अपलोड कर कमाई करने वालों के लिए बुरी खबर है। वीडियो से लाखों-करोड़ों कमाने वालों की कमाई पर जल्द ही गूगल कैंची चलाने वाली है। अब यू-ट्यूबर को अपनी कमाई का मोटा हिस्सा गूगल को देना होगा। अब कुल कमाई पर 15 से 30 प्रतिशत तक टैक्स देना होगा।

टैक्स के दायरे में हैं भारत के यू-ट्यूबर्स
अभी तक यूट्यूब (YouTube) पर वीडियो बनाने वालों को टैक्स नहीं देना पड़ता है लेकिन जल्द ही टैक्स देना पड़ेगा। यूट्यूब ने अब अमेरिका के बाहर के यूट्यूब क्रिएटर्स से टैक्स वसूलने का फैसला लिया है। यानी आप भारत के यूट्यूबर हैं तो आपको टैक्स देना पड़ेगा, हालांकि इसमें राहत यह है कि आपको सिर्फ उसी व्यूज के टैक्स देने होंगे जो आपको अमेरिकी व्यूअर्स से मिले हैं। यहां गौर करने वाली बात यह है कि अमेरिकी क्रिएटर्स को टैक्स नहीं देना होगा।

1 जून से लागू होगी नई पॉलिसी
आसान शब्दों में कहें तो आप भारत के यूट्यूबर हैं और अमेरिका में कोई आपका वीडियो देख रहा है तो इस व्यूज से आपकी जो कमाई होगी उसका टैक्स आपको यूट्यूब को देना होगा। यूट्यूब की नई टैक्स पॉलिसी की शुरूआत जून 2021 से लागू हो रही है यानी 31 मई तक डेडलाइन है। कंपनी ने नए नियम को लेकर वीडियो भी बनाया है और अपने ट्विटर हैंडल से शेयर भी किया है।

जानकारी नही दी तो होगी 24 फीसद की कटौती
YouTube ने वीडियो क्रिएटर्स से एडसेंस (AdSense) अकाउंट में टैक्स इनफॉर्मेशन सबमिट करने को भी कहा है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि यदि आप अपने टैक्स की जानकारी 31 मई 2021 तक नहीं देते हैं तो कंपनी आपकी कुल कमाई से 24 फीसदी तक पैसे काट लेगी।

अमेरिका से कर संधि और आपका देश
यूट्यूब का यह नियम अलग-अलग देशों के लिए अलग-अलग है। टैक्स का नियम इस बात पर निर्भर करता है कि आपके देश के साथ अमेरिका का कर संधि है या नहीं है। भारत के मामले में यदि आप टैक्स की जानकारी देते हैं और कर संधि का दावा करते हैं तो अमेरिकी दर्शकों से मिलने वाले व्यूज पर आपका टैक्स 15 फीसदी तक कम हो जाएगा। वहीं यदि कोई क्रिएटर्स टैक्स की जानकारी देता है और अमेरिका के साथ उसका कर संधि नहीं है तो अमेरिकी व्यूअर्स से हुई कमाई पर 30 फीसदी तक का टैक्स लगेगा।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here