– पास ही रहने वाले माता-पिता से अलग दादी के साथ रह रहा था पोता

हल्द्वानी, डीडीसी। नैनीताल जिले के लालकुंआ में रहने वाली दादी कुछ दिन के लिए दूर क्या गई पोते ने फांसी लगा कर जान दे दी। पोता पिछले चार दिन से घर में अकेला था। रविवार सुबह जब लोगों ने लाश फंदे से लटकी देखी तो होश फाख्ता हो गए। लालकुंआ पुलिस मामले की जांच में जुटी है। मौत की वजह और परिस्थितियां फिलहाल संदिग्ध हैं।

संजयनगर बिंदूखत्ता निवासी दीपक आर्या (22) पुत्र हरीश आर्या यहां अपनी दादी के साथ रहता था। दादी के घर से कुछ ही दूर उसके माता-पिताB भी रहते थे। बताया जाता है कि चार दिन पहले दादी किसी काम के सिलसिले में बाहर गईं थी और दीपक घर पर अकेला था। दादी के जाने के बाद अचानक दीपक भी गायब हो गया।

दादी के जाने बाद दीपक चार दिनों तक दिखाई नहीं दिया तो माता-पिता व आस-पास के लोगों को शक हुआ। उसकी तलाश में लोग जब रविवार सुबह दादी के घर पहुंचे तो आवाक रह गए। अंदर दीपक का शव फंदे से सहारे लटक रहा था।

लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतार कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। पुलिस ने बताया कि शव कई दिन पुराना है और मौत की वजह पता लगाने के लिए जांच की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here