– नागपुर महाराष्ट्र से नाबालिग को तलाश लौटी नैनीताल पुलिस टीम

हल्द्वानी, डीडीसी। करीब दो माह पूर्व फ़िल्म डायरेक्टर बनने के लिए भागा नाबालिग माया नगरी का हिस्सा तो नही बन पाया, लेकिन उसे एक होटल में काम मिल गया। करीब दो माह पूर्व घर से भागा ये नाबालिग नागपुर महाराष्ट्र के एक होटल में नैनीताल पुलिस को बर्तन धोता मिला।

तीनपानी में रहने वाले पूरन चंद्र मर्तोलिया का 16 वर्षीय बेटा बीती 16 मार्च को अचानक घर से लापता हो गया। परिजनों ने उसकी तलाश की और जब कहीं पता नहीं चला तो मंडी चौकी पुलिस के पास पहुंचे। पुलिस ने तत्काल गुमशुदगी दर्ज करते हुए नाबालिग की तलाश शुरू कर दी।

पुलिस ने हर संभावित स्थान पर उसकी तलाश की। दोस्तों, स्कूल और नाते-रिश्तेदारों से पूछताछ करने के अलावा कॉल डिटेल और सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए। नाबालिग को तलाश करती पुलिस की टीम को पता लगा कि नाबालिग महाराष्ट्र के नागपुर में है।

जिसके बाद पुलिस टीम पूरन चंद्र मर्तोलिया को लेकर नागपुर पहुंच गई। नाबालिग यहां एक होटल में नौकरी कर रहा था। पूछने पर बताया कि वह फिल्म डायरेक्टर बनने के लिए घर से भागा था और होटल में काम करने की वजह से उसका रहने और खाने का जुगाड़ हो गया।

बोला, अगली बार नहीं तलाश पाएगी पुलिस
पुलिस टीम के साथ गए पिता बेटे को होटल में काम करता देख नाराज हो गए। उन्होंने बेटे का झाड़ लगा दी और यह बात बेटे को बुरी लग गई। उसने पिता से कहाकि इस बार तो आपने और पुलिस ने मुझे तलाश लिया, लेकिन अगली ऐसे भागूंगा कि पुलिस भी तलाश नहीं पाएगी।

युट्यूबर बनने दिल्ली भागा था फौजी का बेटा
हल्द्वानी। प्रेमपुर लोश्यानी छड़ायल चौराहा निवासी संजय कुमार आसाम रायफल्स में तैनात हैं। बीती 24 अप्रैल को उनका 15 वर्षीय बेटा अपनी मां के साथ मॉर्निंग वॉक पर निकला था और लापता हो गया। इस मामले में परिजनों ने अपने ही पड़ोसी पर बेटे के अपहरण का शक जताया था, लेकिन गुरुवार को पुलिस ने उसे दिल्ली से तलाश लिया। नाबालिग का कहना था कि उसके पिता जितना महीने में कमाते हैं वो युट्यूबर बन कर एक दिन में कमा सकता है, इसीलिए घर से भागा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here