– स्पेशल जज पॉक्सो नंद सिंह ने सजा के साथ लगाया जुर्माना

हल्द्वानी, डीडीसी। नाबालिग छात्रा से गंदी हरकत करने वाले गुरु जी के जिंदगी के 7 साल अब सलाखों के पीछे गुजरेंगे। इस सरकारी अध्यापक ने छात्रा को अगवा कर दुष्कर्म करने की कोशिश करने की कोशिश की थी। कोर्ट ने सात साल सश्रम कारावास के साथ आरोपी पर 32 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है।

पंचर हो गई थी भाई की बाइक
मामले में पैरोककर सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता नवीन चंद्र जोशी ने बताया कि वारदात 3 जुलाई 2017 की है। इस रोज 14 साल की पीड़िता को उसका भाई बाइक से स्कूल छोड़ने जा रहा था। रास्ते में उसकी भाई की बाइक पंचर हो गई। जिस पर उसने बहन से पैदल चलने को कहा और कहा कि वह बाइक का पंचर ठीक कराकर पीछे से आ रहा है। कुछ आगे जाने पर पीड़िता को रास्ते में कार सवार मोबिन खान निवासी वार्ड दो कालाढूंगी मिल गया।

मोबिन ने हाथ पकड़कर खींच लिया कार में
मोबिन कमोला जूनियर हाई स्कूल में अध्यापक है और इन दिनों ओखलकांडा में तैनात है। मोबिन ने मदद के बहाने किशोरी से कार में बैठने को कहा। जब किशोरी ने इंकार किया तो उसने जबरदस्ती हाथ पकड़ कर कार में खींच लिया और कार के दरवाजे व शीशे लॉक कर दिए। जिसके बाद मोबिन ने कार हल्द्वानी की ओर मोड़ दी।

लोगों ने देखा मदद के लिए कार में छटपटाते
जिसके बाद मोबिन ने चलती कार में किशोरी से छेड़छाड़ शुरू कर दी। उसने किशोरी के कपड़े फाड़ दिए। किशोरी बचने के लिए शीशे में हाथ मारना शुरू किया और यह सब लामाचौड़ में कुछ लोगों ने देख लिया। जिस पर एक व्यक्ति ने इसकी सूचना कमलुवागांजा में अपने लोगों को दी।

बीच सड़क टैंकर लगाकर रोका रास्ता
कामलुआगांजा में लोगों ने टैंकर को बीच सड़क पर खड़ा कर रास्ता जाम कर दिया। जिसके बाद मोबिन को धर दबोचा गया और मुखानी पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया। किशोरी के पिता की तहरीर पर मोबिन के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज हुई। इस मामले में जिला शासकीय अधिवक्ता नवीन चंद्र जोशी ने बताया कि यह मामला स्पेशल जज पॉक्सो नंद सिंह की कोर्ट में था।

बुधवार को किया गया गिरफ्तार
इस मामले में मोबिन को जमानत मिली थी और वो काफी समय से जेल से बाहर था, लेकिन बीते बुधवार को जब ये तय हो गया कि मोबिन को सजा होनी है तो उसे गिरफ्तार कर लिया गया। जिसके बाद गुरूवार को उसे हल्द्वानी कोर्ट में सजा सुनाई गई।

12 गवाह और इन धाराओं में मिली इतनी सजा
गुरुवार को जज नंद सिंह ने आरोपी के खिलाफ सजा सुनाई। धारा 363 में सात साल सश्रम कारावास व 10 हजार जुर्माना, 366 धारा में 5 साल की सजा व 10 हजार जुर्माना, धारा 506 में दो साल की सजा व दो हजार जुर्माना व 8 पॉक्सो में 5 साल की सजा व 10 हजार जुर्माना लगाया। अभियोजन पक्ष की ओर से इस मामले में 12 गवाह पेश किए गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here