– कुछ समय पहले अंतराष्ट्रीय गैंग ने ठंठी सड़क से उड़ाए थे लाखों के मोबाइल

हल्द्वानी, डीडीसी। भारत से चोरी माल को विदेश में ठिकाने लगाने वाला घोड़ासहन गैंग हल्द्वानी में फिर वारदात को अंजाम देने आया था, लेकिन इस बार कामयाब नही हो पाया। अंतरराष्ट्रीय गैंग का शातिर गुर्गा पुलिस के चंगुल में उस वक्त फंसा, जब वो एक दुकान का ताला तोड़ रहा था। कुछ समय पहले इस गैंग ने नैनीताल रोड की ठंडी सड़क पर मोबाइल के शोरूम से लाखों के मोबाइल पार किए थे। गैंग के फरार चेलुवा व बेलुवा पर 50000 का ईनाम घोषित है।

बीते शुक्रवार की रात हल्द्वानी कोतवाली पुलिस ने टीपीनगर चौकी इलाके से मो. जमीर निवासी देमा धानक मननपुर देवा परसौनी सीतामणि बिहार को गिरफ्तार किया है। चोर रामपुर रॉड स्थित लोहनी टी स्टाल का ताला तोड़ रहा था।

जमीर ने बताया था कि हल्द्वानी में अच्छे मोबाइल शोरुम हैं। मैं अपने दोस्त पिंटू, सुरेंद्र दास व ठेकेदार सिराज के साथ ईद के समय हल्द्वानी आया था। ईद पर दुकानो में महंगे व अधिक मोबाइल होते हैं। चोर इस दौरान मुसाफिरखाने मे रह रहे थे और पिन्टू नैनीताल रोड स्थित वन प्लस के शोरूम में रैकी कर रहा था।

ईद पर पुलिस की सक्रियता से चोरी नही हो पाई और चोरों को और साथियो की जरुरत पड़ी। ऐसे में जमीर हल्द्वानी में ही रुक गया। जबकि पिंटू, सुरेंद्र और जगह चले गए। जमीर को पैसों की की जरूरत पड़ी तो रामपुर रोड से एक खोखे का ताला तोड़ दिया और धरा गया।

पुलिस टीम में कोतवाली हरेन्द्र चौधरी, टीपीनगर चौकी प्रभारी संजीत राठौर, एसआई विकास रावत, का. घनश्याम रौतेला, का. भगवान सैलाल, का. सुन्दर सिंह, का. विनोद यादव थे।

जमीर और उसके साथियों ने पूर्व में दिल्ली से 52 मोबाइल, सहारनपुर से 80 मोबाइल चोरी कर नेपाल में बेचे। जहां मोबाइल को आईएमईआई के माध्यम से ट्रैस नही किया जा सकता। जिस कारण आरोपी पकड़ में नही आते।

जमीर ने बताया कि वारदात के समय गैंग भारतयी सिम इस्तेमाल नही करता था। बल्कि वाई-फाई व हॉट-स्पॉट के जरिये व्हाटसएप कॉलिग के माध्मय से गैंग के सम्पर्क में रहते और चोरियां रात दो से पांच बजे के बीच करते। गैंग का एक आदमी चादर सुखाता और बाकी चादर की आड़ में शटर उठाकर दुकान में दाखिल हो जाते थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here