– आधी रात परेशान युवती को पुलिस कंट्रोल रूम से मिला बेहूदा जवाब

हल्द्वानी, डीडीसी। जब लोग परेशान होते हैं तो पुलिस की मदद लेते है, लेकिन जब पुलिस मदद के लिए न आए तो परेशान व्यक्ति क्या करे? बीती रविवार की रात भी एक परेशान युवती ने हल्द्वानी पुलिस को फोन किया और मदद मांगी। मित्र पुलिस ने मदद तो नही की और ऐसा जवाब दिया कि परेशान युवती भी सुन कर हैरान रह गई। युवती पड़ोसी के बेतहाशा शोर से परेशान थी और इस पर उसे पुलिस से ये जवाब मिला कि पड़ोसी ने परमीशन ली होगी तो हम कुछ नही कर सकते। आइए जानते हैं क्या है पूरा मामला।

ब्रिडकुल के पास निर्माण से नींद नही आती
नींद नही आती तो इंसान चिड़चिड़ा हो जाता है। मुखानी में लगन गार्डन के सामने ब्रिडकुल का ऑफिस है। इस ऑफिस की अगली गली में एक मकान निर्माणाधीन है। घनी आबादी के बीच ये इकलौता खाली प्लाट था, जो अब बन रहा है। दिक्कत यहां मकान बनने से नही है, दिक्कत आधी-आधी रात तक होने वाले निर्माण कार्य से है। बेहद शोर भरे कार्य की वजह से यहां लोगो को नींद नही आती और जब इस बात की शिकायत की गई तो पुलिस ने कहा कि उसने अगर काम की परमिशन ली होगी तो हम कुछ नही कर सकते।

आखिर किसी को परेशान करने की परमिशन कौन देता है
पुलिस कहती है कि पडोसी ने रात में काम करने की परमिशन ली होगी। बात सही भी हो सकती है, लेकिन पुलिस इस बात की जांच करने नही आई। फिर सबसे बड़ा सवाल है कि परमिशन तो काम करने की दी गई होगी या आधी रात सोते लोगों को परेशान करने की। जाहिर सी बात है कि परेशान करने की परमिशन कोई नही दे सकता। बावजूद इसके पुलिस ने अपनी जिम्मेदारी नही निभाई और लोग सो नही पाए।

पूरी-पूरी रात जेसीबी से खोदा गया प्लॉट
रात-रात काम होना कोई नही बात नही है। इस प्लाट का अधिकांश काम रात की आड़ में हुआ। आखिर ऐसा क्यों किया गया। जब निर्माण कार्य शुरू हुआ तो प्लाट की जमीन को 15 फिट से ज्यादा खोद दिया गया। इसके लिए जेसीबी लगाई गई। लंबे चौड़े प्लॉट से दर्जनों डम्फर मलबा निकला और उसे भी रातों रात इधर से उधर कर दिया गया। तब भी कई रातों तक लोग सो नही पाए।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here