– शिवरात्रि (11 मार्च) को 3 अखाड़े करेंगे स्नान, सख्त गाइडलाइन जारी

हरिद्वार, डीडीसी। महाशिवरात्रि (Mahashivratri) हरिद्वार कुंभ (Haridwar Kumbh) को होने वाले शाही स्नान (Shahi Snan) से पहले नई और बेहद सख्त गाइड लाइन जारी की गई है। इस दफा हरिद्वार जाने वाली रोडवेज बसों को शहर की सीमा के बाहर रोक दिया जाएगा। नियम चार पहिया वाहन के लिए भी खासे सख्त है और सख्ती इतनी है कि बिना ई-पास के एक भी आदमी हरिद्वार की सीमा में दाखिल नही हो पाएगा। फिर अगर आपको घाट जाना है तो कुछ और फॉर्मेलिटी पूरी करनी होंगी। ये सब कवायद 11 मार्च को शिवरात्रि के दौरान होने वाले शाही स्नान और भीड़ की देखते की जा रही है।

हरिद्वार जाने से पहले यहां कराएं रजिस्ट्रेशन
रजिस्ट्रेशन करने के लिए कुंभ मेले के पोर्टल https://dsclservices.org.in/kumbh पर जाना होगा। यहां आपको अपनी जानकारियां दर्ज करनी होंगी। इसके अलावा कोविड रिपोर्ट, हेल्थ चेकअप सर्टिफिकेट और आईडी प्रूफ अपलोड करना होगा। जिसके बाद आपको अपने मोबाइल पर ई-पास मिल जाएगा। इसी ई-पास के जरिए आपको हरिद्वार में एंट्री मिलेगी। पास न होने की स्थिति में बैरंग वापस लौटना होगा।

स्नान के लिए कोविड निगेटिव रिपोर्ट जरूरी
हरिद्वार में चल रहे कुंभ मेले का पहला शाही स्नान 11 मार्च को होना होगा। 10, 11 और 12 मार्च को हरिद्वार जिले में प्रवेश करने के लिए 72 घंटों के भीतर की कोविड -19 निगेटिव रिपोर्ट और हेल्थ सर्टिफिकेट लाना अनिवार्य कर दिया गया है। इसके अलावा हरिद्वार कुंभ मेले के पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन भी कराना होगा। इन सबके बगैर हरिद्वार में कुंभ स्नान संभव नही होगा। मेला क्षेत्र में रेंडम सेम्पलिंग की होगी। किसी में कोरोना के लक्षण पाए जाने या संक्रमित होने पर, उसे आइसोलेट किया जाएगा।

7 अखाड़ों के शाही स्नान, सबके लिए आधा घंटा तय
अखाड़े अपनी व्यवस्था के अनुसार खास क्रम में शाही स्नान करते हैं और 11 मार्च यानी शिवरात्रि पर 7 अखाड़े शाही स्नान करेंगे। अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने बताया कि सबसे पहले जूना, अग्नि और आवाहन अखाड़े स्नान करेंगे। उसके बाद निरंजनी और आनंद अखाड़ा गंगा में डुबकी लगाएंगे और अंत में महानिर्वाणी अखाड़ा और अटल अखाड़े के नम्बर आएगा। हर अखाड़े को स्नान के लिए आधे घंटे का समय दिया गया है।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here