– वीआईपी दौरे की No Entry,ड्रोन से भी होगी मेले की नगरानी

हरिद्वार, डीडीसी। हरिद्वार कुंभ में मुख्य स्नान के दिन वीआईपी दौरे नहीं होंगे। कुंभ को लेकर आयोजित उत्तर राज्यों के पुलिस अधिकारियों की बैठक में इस पर सहमति बनी है। इसके साथ ही सभी राज्यों की पुलिस कोविड गाइडलाइन का भी व्यापक प्रचार प्रसार करेगी। हरिद्वार कुंभ में सुरक्षा व्यवस्था, ट्रैफिक और भीड़ प्रबंधन को लेकर शुक्रवार को पुलिस मुख्यालय में उत्तराखंड के साथ ही उत्तरप्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, राजस्थान, चण्डीगढ़, जम्मू-कश्मीर के साथ ही एनआईए, आईबी, रेलवे सुरक्षा बल के अधिकारियों की साझा बैठक हुई।

आना चाहे तो सामान्य यात्री बन कर आएं
डीजीपी अशोक कुमार की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में तय किया गया कि मुख्य स्नान के दिन किसी भी वीआईपी को हरिद्वार आने की अनुमति नहीं होगी। यदि वीआईपी बिना प्रोटोकॉल सामान्य यात्री के तौर पर स्नान के लिए आना चाहें तो आ सकते हैं। बैठक के बाद डीजीपी अशोक कुमार ने बताया कि इस बार पुलिस भीड़ प्रबंधन और सुरक्षा व्यवस्था के लिए सीसीटीवी कैमरे, ड्रोन के साथ-साथ ऑर्टिफीशियल इंटेलीजेंस टूल का भी उपयोग कर रही है। साथ ही इस बार कुंभ में सोशल मीडिया की भूमिका भी बढ़ गई है।

बढ़ेगी सोशल मीडिया की निगरानी
इसलिए सोशल मीडिया की निगरानी भी बढ़ाई जा रही है। बैठक में आईजी कुंभ संजय गुंज्याल और आईजी इंटेलीजेंस एपी अंशुमान ने प्रमुख स्नानों के लिए किए जा रही व्यवस्थाओं की जानकारी दी। मेलाधिकारी दीपक रावत ने मेला तैयारियों का विवरण साझा किया, बैठक का संचालन एसएसपी निवेदिता कुकरेती कुमार ने किया।

दूसरे राज्यों की पुलिस असहज
बैठक में कुंभ मेले को लेकर जारी केंद्र सरकार की एसओपी पर भी चर्चा हुई। उत्तराखंड के अधिकारियों ने केंद्र की गाइडलाइन का हवाला देते हुए पंजीकरण और आरटीपीसीआर टेस्ट के आधार पर ही यात्रियों को हरिद्वार आने देने पर जोर दिया। हालांकि दूसरे राज्यों के पुलिस अधिकारियों ने बिना जांच, पंजीकरण के आ रहे श्रद्धालुओं को रोकने के लिए कोई आश्वासन नहीं दिया। अलबत्ता इस पर बात का भरोसा जरूर दिया कि केंद्र सरकार की गाइडलाइन का पुलिस के प्लेटफार्म से व्यापक प्रचार प्रसार किया जाएगा। ताकि लोग खुद ही औपचारिकताएं पूरी कर लें।

– सभी राज्यों के अधिकारियों के साझा वाट्सएप ग्रुप बनेंगे

– यातायात दबाव बढ़ने पर पड़ोसी राज्यों से ही डायवर्जन होगा

– भीड़ बढ़ी तो नजीबाबाद, सहारनपुर रेलवे स्टेशन भी सक्रिय होंगे

– कुम्भ के दौरान राज्यों के बीच वायरलेस की कॉमन फ्रीक्वेंसी होगी

– सभी राज्यों और केंद्रीय एजेंसी के नोडल अधिकारी हरिद्वार में बैठेंगे

– फेसबुक पेज, ट्विटर हैण्डल पर मिलेगी पार्किंग की जानकारी

– अन्तर्राज्यीय अपराधियों का विवरण साझा किया जाएगा

– अन्तर्राज्यीय चैक पोस्ट पर संयुक्त चैकिंग होगी

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here