– हिस्ट्रीशीटर पर हत्या, हत्या के प्रयास, अपहरण और डकैती जैसे 14 संगीन मामले

हल्द्वानी, डीडीसी। राजनीति के चोले में अपराध छिपाने की कोशिश में नाकाम हृदयेश इधर जिला बदर हुआ और उधर उस पर एक और मुकदमा दर्ज हो गया। पुलिस हिस्ट्रीशीटर हृदयेश कुमार को आधी रात जिले की सीमा से बाहर छोड़ आई।

हृदयेश के खिलाफ कुल 14 केस दर्ज हैं। काठगोदाम पुलिस का कहना है कि चौफुला चौराहा दमुवाढूंगा काठगोदाम निवासी हृदयेश कुमार पुत्र सुरेश चंद्र को पुलिस ने आदतन अपराधी है। आए दिन गली-मोहल्लों में लड़-झगड़ कर, लोगों को डरा-धमका कर शांति व्यवस्था भंग करते रहता है। हृदयेश के खिलाफ हत्या, हत्या का प्रयास, अपहरण और डकैती जैसे संगीन मामले हैं।

शनिवार आधी रात पुलिस ने हृदयेश को हिरासत में लिया और जिले की सीमा से बाहर पंतनगर में छह माह तक वापस न लौटने की हिदायत देकर छोड़ दिया। हृदयेश के खिलाफ 14वां केस जवाहर ज्योति दमुवाढूंगा काठगोदाम निवासी मनोज गोस्वामी की तहरीर पर दर्ज किया गया।

सड़क के गड्ढे से जिला बदर तक

हल्द्वानी। पिछले करीब सात साल से हिस्ट्रीशीटर हृदयेश कुमार के खिलाफ एक भी मामला दर्ज नहीं किया गया, लेकिन काठगोदाम में सरदार की कोठी के पास सड़क के गड्ढे से शुरू हुआ मनोज गोस्वामी के बीच विवाद जिला बदर की कार्रवाई पर आकर खत्म हुआ। जवाहर ज्योति दमुवाढूंगा निवासी मनोज गोस्वामी से पार्षद पुत्र हृदयेश कुमार को शिकायत की थी, लेकिन गड्ढे नहीं भरे। मनोज ने अपने जोर-जुगाड़ से सड़क के गड्ढे भरवा दिए। जिसके बाद दोनों में रार आ गई। मनोज ने अधिकारियों के सामने हृदयेश का आपराधिक इतिहास पेश किया और हृदयेश को जिलाबदर करने की मांग की। इसके लिए मनोज देहरादून तक पहुंच गए।

ये है हिस्ट्रीशीटर हृदयेश कुमार केस की फेहरिस्त
1- वर्ष 2008 में धारा 326, 506 आईपीसी
2- वर्ष 2008 में धारा 364, 395, 412 आईपीसी
3- वर्ष 2008 में धारा 2/3 गैंगस्टर एक्ट
4- वर्ष 2009 में धारा 324/504 आईपीसी
5- वर्ष 2009 में धारा ¾ गैंगस्टर एक्ट
6- वर्ष 2011 में धारा 302/34 आईपीसी
7- वर्ष 2011 में धारा 2/3 गैंगस्टर एक्ट
8- वर्ष 2013 में धारा 506 आईपीसी
9- वर्ष 2014 में धारा 147, 148, 149, 504, 324, 307, 427 आईपीसी व 25 आम्स एक्ट
10- वर्ष 2014 में धारा 2/3 गैंगस्टर एक्ट
11- वर्ष 2015 में धारा ¾ गुंडा एक्ट
12- वर्ष 2013 में धारा ¾ गुंडा एक्ट
13- वर्ष 2013 में धारा 110जी
14- वर्ष 2022 धारा 504, 506 भादवि

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here