– पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने देवीधुरा में किया 1581 लाख की योजनाओं का लोकार्पण

चम्पावत, डीडीसी। उत्तराखंड को देव भूमि कहा जाता है और यहां उस वक्त का इतिहास मौजूद है जब स्वयं भगवान यहां निवास करते थे। पहाड़ की ऊंची-ऊंची चोटियों पर भगवान के भवन है और इन धार्मिक भवनों तक भक्तों की पहुंच को आसान बनाने के लिए रोप-वे का सहारा लिया जाएगा। राज्य के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज इसको लेकर हेरिटेज सर्किट पर काम कर रहे है और रविवार को वह चम्पावत भ्रमण थे। उन्होंने कई धार्मिक स्थलों का भर्मण किया और धार्मिक स्थलों को और बेहतर बनाने का संकल्प लिया। देवीधुरा में केंद्र पोषित प्रदेश पर्यटन योजना के तहत हेरिटेज सर्किट के तहत 1581 लाख रुपए की लागत से पर्यटन सुविधाओं के विकास कार्यों का लोकार्पण किया।

पर्यटन सर्किट से जुड़ेंगे खेती खान, मस्टा, देवाल और फटक मंदिर
खेतीखन भ्रमण के दौरान सतपाल महाराज ने कई मंदिरों को पर्यटन सर्किट से जोड़ने का भरोसा दिया। उन्होंने खेती खान सिद्ध मंदिर को पर्यटन सर्किट से जोड़ने तथा पाटी क्षेत्र में मस्टा मंदिर, देवाल शिव मंदिर और फटक शीला मंदिर को पर्यटन सर्किट से जोड़ने का भरोसा दिया है।

रोप-वे से जुड़ रहा है पूर्णागिरि मंदिर
पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए राज्य में रोप-वे का निर्माण किया जा रहा है। जिसके तहत पूर्णागिरि देवी मंदिर तक रोप-वे परियोजना का निर्माण पीपीपी मोड में चल रहा है।

दून से मसूरी तक 3 सौ करोड़ की योजना
प्रदेश के पर्यटन, सिंचाई एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि विश्व के सबसे लंबे 5 में से एक देहरादून से मसूरी तक 300 करोड़ रूपए की योजना पर भी कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। महाराज ने कहा कि पर्यटन विभाग राज्य के सभी जनपदों में पर्यटन एवं तीर्थाटन की गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए पौराणिक महत्व के स्थलों को चिन्हित कर उन्हें सर्किट में शामिल करने की योजना बना रहा है।

यहां-यहां केंद्र के पैसों से होगा काम
प्पर्यटन सतपाल महाराज ने कहा कि भारत सरकार की स्वदेश दर्शन योजना के अंतर्गत हेरिटेज सर्किट में शामिल अल्मोड़ा स्थित कटारमल में इंटरप्रिटेशन सेंटर, लैंडस्कैपिंग साइट, जागेश्वर में पार्किंग, धनेश्वरी को लॉक, बागेश्वर स्थित बैजनाथ में इको लॉग हट्स, पार्किंग, घाट डेवलपमेंट, देवीधुरा में मां बाराही योद्धा बिल्डिंग रूल्स फॉर साइट डेवलपमेंट के तहत 8 करोड़ 90 लाख के विकास कार्य दिए गए हैं।

जल संरक्षण पर भी हो रहा है काम
सतपाल महाराज ने बताया कि विभिन्न जनपदों में जल संरक्षण हेतु सिंचाई विभाग जिला का निर्माण कर रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में जल संरक्षण के लिए पर्यटन को भी बढ़ावा दिया जा रहा है तथा रोजगार की दृष्टि से पालन की संभावनाओं को देखते हुए जलाशयों का निर्माण किया जा रहा है।

बग्वाल होगा अब राजकीय मेला
सतपाल महाराज ने कहा कि प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत लघु सिंचाई विभाग में 770 किलो का निर्माण सिंचाई हो। आज सिंचाई हॉट चार यूनिट हाइड्रो हाइड्रो हाइड्रो 109 आर्टिजन को तथा 90045 पंपसेट की स्थापना कर 17525 हेक्टेयर भूमि की सिंचाई क्षमता का सृजन किया है। उन्होंने देवीधुरा के प्रसिद्ध बग्वाल मेले को राजकीय मेला बनाने की घोषणा की।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here