– 1354 आवास उपलब्ध कराएगा डीडीए, गरीब, अमीर सबको मिलेगा घर

नई दिल्ली, डीडीसी। अगर आप भी अभी तक किराए के घर में रह रहे हैं और अपने परिवार के लिए एक आशियाने की तलाश में है तो दिल्ली विकास प्राधिकरण आपकी तलाश को पूर्ण विराम लगा सकता है। डीडीए दिल्ली में 1354 आवासों की योजना लेकर आया है और इस योजना में 7.50 लाख रुपये से लेकर करोड़ों रुपये तक की कीमत के आवास है। आइए जानते हैं किसकी कितनी कीमत है और आवास दिल्ली में कहां-कहां हैं।

ईडब्ल्यूएस से एचआईजी तक के आवास
डीडीए की इस नई योजना में आपको अपनी बजट के अनुरूप आवास उपलब्ध कराए जा रहे हैं। यानि कम से कम आय वालों से लेकर उच्च आय तक के लोगों के लिए योजना में अवास उपलब्ध होंगे। ईडब्ल्यूएस के आवासों की शुरुआती कीमत 7 लाख 50 हजार रुपये हैं। इसी तरह आपको एलआईजी, एमआईजी और एचआईजी के आवास उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

यहां-यहां और इतनी-इतनी है आवासों की कीमत
ईडब्ल्यूएस के आवास मंगोलपुरी, द्वारका में 276 और नरेला में 15 फ्लैट हैं। इनकी कीमत 7 लाख 55 हजार से लेकर 29 लाख 50 हजार रुपये तक है। एलआईजी स्कीम के 25 फ्लैट द्वारका में, रोहिणी में 23, नरेला सेक्टर ए में 3 औक कोंडली घरोली में एक फ्लैट है। इनकी कीमत 17 लाख 54 हजार से लेकर 35.5 लाख तक है। एमआईजी के फ्लैट 40.64 लाख से 1.27 करोड़ रुपये तक हैं। इनके द्वारका सेक्टर 19बी में 352, 16बी में 348, वसंत कुंज ब्लॉक बी से ई में 3, रोहिणी 23 में 40, द्वारका सेक्टर 1, 3, 12, 19 में 11, जहांगीरपुरी में 2 और मेदीपुर में 1 फ्लैट है। जबकि एचआईजी की कीमत 97.23 लाख से 117.05 करोड़ रुपये तक है। फ्वसंत कुंज सेक्टर बी में एक और वसंत कुंज ब्लॉक एफ में केवल एक फ्लैट है।

16 फरवरी है आवेदन की आखिरी तारीख
योजना से जुड़ी सारी जानकारी आपको डीडीए की आधिकारिक वेब साइड पर मिल जाएगी। वेबसाइट के मुताबिक अगर आपको योजना का लाभ लेना है तो हर हाल में 16 फरवरी 2021 से पहले आवेदन करना होगा। इस तय तारीख के बाद आवेदन स्वीकार नहीं किए जाएंगे। स्कीम के लिए डीडीए ने 10 बैंकों से करार किया है। इन बैंकों के जरिये एप्लीकेशन फीस जमा करायी जा सकती है। ईडब्ल्यूएस कैटागिरी के लिए 25 हजार, एलआईजी के लिए एक लाख और एमआईजी व एचआईजी के लिए 2 लाख रुपये फीस है।

मिलेगी प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ
डीडीए की इस स्कीम में खरीदारों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लाभ भी मिलेगा। डीडीए की मानें तो छूट का फायदा फ्लैट कैटागिरी के हिसाब से मिलेगा। इसे इस तरह से समझिए के अगर कोई ईडब्ल्यूएस के फ्लैट लेना है तो उसकी सालाना इनकम 3 लाख रुपये तक होनी चाहिए। इसी तरह एलआईजी वालों की सालाना इनकम 3 से 6 लाख, एमआईजी के लिए सालाना इनकम 6 से 12 व एचआईजी के लिए 12 से 18 लाख रुपये सालाना आमदनी होनी चाहिए।

--Advertisement--

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here