– लाठी-डंडों और पेट पर सीमेंट के ब्लॉक से हमला कर उतारा मौत के घाट

कालाढूंगी, डीडीसी। कालाढूंगी में गपशप करते खफा हुए नाबालिग सगे भाइयों ने अपने ही दोस्त पर कातिलाना हमला कर दिया। पहले उसे लाठी-डंडों से पीटा और फिर पेट पर सीमेंट के ब्लॉक से हमला कर दिया। हमले में लगभग अधमरे हो चुके दोस्त ने इलाज के दौरान हल्द्वानी के एक निजी अस्पताल में दम तोड़ दिया।

ये घटना बीती 15 मई की है। बताया जाता है कि रतनपुर निवासी सुमेर यादव पेशे से मजदूर है और सुमेर का 24 वर्षीय बेटा गौतम भी मजदूरी करता है। गौतम की पड़ोस में रहने वाले दो भाइयों से दोस्ती थी और ये दोनों नाबालिग भाई भी मजदूरी करते हैं। काम खत्म होने के बाद ये तीनों अक्सर समय साथ ही बिताते थे।

बीती 15 मई को भी ये लोग साथ बैठे गपशप कर रहे थे। तभी किसी बात को लेकर गौतम की दोनों भाइयों से तकरार हो गई। मौके पर हुई गर्मागर्मी के बाद मामला शांत हो गया और दोनों पक्ष अपने घर चले गए। बताते कि इसी दरम्यान गौतम की दोनों नाबालिग भाइयों से फोन पर बात हुई।

दोनों ने एक-दूसरे को देख लेने की चुनौती दे डाली और इसी बात से तमतमाया गौतम नाबालिग भाइयों के घर पहुंच गया। गौतम के पहुंचते ही नाबालिग भाइयों ने लाठी-डंडे से गौतम पर हमला कर बोल दिया। गौतम बुरी तरह घायल हो गया। इसी बीच एक भाई ने पास ही पड़ा सीमेंट का ब्लॉक उठा लिया और गौतम के पेट पर एक के बाद एक कई वार कर डाले।

इस हमले ने गौतम को अधमरा कर दिया। इधर, घटना को अंजाम देने के बाद दोनों भाई मौके से फरार हो गए। हो हल्ला होने पर लोगों की भीड़ जमा हो गई। आनन-फानन में गौतम को नजदीक के अस्पताल ले जाया गया। जहां हालत नाजुक होने पर चिकित्सकों ने बड़े अस्पताल ले जाने की सलाह दी। गौतम को हल्द्वानी के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

जहां मंगलवार दोपहर उसने दम तोड़ दिया। मौत की सूचना पर पहुंची पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद गौतम का शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया। इधर, कालाढूंगी पुलिस को मौत की खबर लगी तो आरोपियों की धरपकड़ तेज कर दी। बताया जाता है कि इस मामले में पुलिस ने एक आरोपी को हिरासत में ले लिया है। थाना अध्यक्ष राजवीर सिंह नेगी ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here