– एक साल में अंबानी की संपत्ति 24% बढ़ी और अडानी की दोगुनी हो गई

नई दिल्ली, डीडीसी। आप गरीब हैं और यकीनन कोरोना काल और कोरोना काल के बाद आपकी जिंदगी गुरबत भरी होगी, लेकिन कोरोना अमीरों के कुछ उखाड़ नही पाया। पिछले साल कोरोना काल में जब लोग पाई-पाई को मोहताज हो रहे थे, तब भारत देश में तबका रुपया गिनते नही थक रहा था। आप हैरत में पड़ जाएंगे ये सुनकर की भारत में कोरोना काल के दौरान 40 नए अरबपति बन गए। ये सब तब हुआ जब देश की जीडीपी गर्त में जा रही थी। देश में अरबपतियों की संख्या एक साल में 137 से बढ़कर 177 हो गई है। यानी एक साल में देश में 40 अरबपति बढ़े हैं। आइए आप भी जानिए इन नए अरबपतियों के बारे में।

पूरे विश्व में बढ़े 414 अरबपति
हुरुन ग्लोबल रिच लिस्ट 2021 में ये आंकड़े जारी किए गए हैं। इस बार इसमें दुनियाभर के 68 देशों और 2,402 कंपनियों से 3,228 अरबपतियों को शामिल किया गया है। पिछले साल इस रिच लिस्ट में 2,814 अरबपति थे। यानी इस बार दुनियाभर में 414 अरबपति बढ़े हैं।

24% बढ़ी अंबानी की कमाई, अडानी की दो गुनी हुई
देश के सबसे अमीर उद्योगपति और रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी रिच लिस्ट में 9वीं पायदान से बढ़कर 8वें नंबर पर आ गए हैं। एक साल में उनकी संपत्ति 24% बढ़ी है। पिछले साल उनकी संपत्ति 67 अरब डॉलर थी, जो अब 83 अरब डॉलर यानी 6.1 लाख करोड़ रुपए हो गई है। रिच लिस्ट में मुकेश अंबानी की वेल्थ में लगातार इजाफे की एक वजह यह बताई गई है कि देश का 8% एक्सपोर्ट रिलायंस इंडस्ट्रीज के जरिए होता है। वहीं, कस्टम-एक्साइज ड्यूटी से सरकार को मिलने वाला 5% रेवेन्यू रिलायंस इंडस्ट्रीज से आता है। अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी की संपत्ति में लगभग दोगुना इजाफा हुआ है। उनकी संपत्ति 17 अरब डॉलर से बढ़कर 32 अरब डॉलर यानी 2.34 लाख करोड़ रुपए हो गई है। वे 20 पायदान की छलांग लगाकर दुनिया के 48वें सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं।
IT कंपनी HCL के शिव नादर 27 अरब डॉलर यानी 1.98 लाख करोड़ रुपए की संपत्ति के साथ तीसरे सबसे अमीर भारतीय हैं।

सबसे ज्यादा अरबपतियों की लिस्ट में भारत तीसरे नम्बर पर
भारत में 177 अरबपति हैं। सबसे ज्यादा अरबपतियों की लिस्ट में देश तीसरे नंबर पर बना हुआ है। इन 177 अरबपतियों में 61 मुंबई से हैं। नई दिल्ली में 40 और बेंगलुरु में 22 अरबपति हैं। अगर विदेशों में रह रहे भारतवंशियों को भी जोड़ लें तो कुल संख्या 209 हो जाती है। सबसे ज्यादा 1,058 अरबपति चीन में हैं। एक साल में इनकी संख्या में 259 का इजाफा हुआ है। दुनिया में सबसे ज्यादा 145 अरबपति भी बीजिंग में रहते हैं। दूसरे नंबर पर शंघाई है, जहां 113 अरबपति रहते हैं।

अरबपतियों का दूसरा देश है अमेरिका
अरबपतियों के मामले में दूसरे नंबर पर अमेरिका है। यहां 696 अरबपति हैं और एक साल में इनकी संख्या 70 बढ़ी है। न्यूयॉर्क में सबसे ज्यादा 112 अरबपति रहते हैं। भारत के बाद चौथे नंबर पर 141 अरबपतियों के साथ जर्मनी चौथे और 134 अरबपतियों के साथ यूके पांचवें नंबर पर है। स्विट्जरलैंड में 100, रूस में 85 और फ्रांस में 68 अरबपति रहते हैं।

कोरोना के बावजूद दुनियाभर के अरबपतियों की वेल्थ बढ़ी
कोरोना के बावजूद दुनियाभर के 3,228 अरबपतियों की वेल्थ में 32% का इजाफा हुआ है। इनकी कुल संपत्ति 3.5 ट्रिलियन डॉलर से बढ़कर 14.7 ट्रिलियन डॉलर हो गई है। एशिया में सबसे ज्यादा करीब 50% यानी 1,653 अरबपति हैं। इस बार की ग्लोबल लिस्ट में 8.7% अरबपति हेल्थकेयर सेक्टर से हैं। रियल एस्टेट सेक्टर से भी 8.7% और कंज्यूमर गुड्स सेक्टर से 8.6% अरबपति हैं। भारत के 177 अरबपतियों में भी सबसे ज्यादा 37 अरबपति हेल्थकेयर और 26 कंज्यूमर गुड्स सेक्टर से हैं।

चीन में सबसे ज्यादा सेल्फ-मेड वुमन बिलियनेयर
दुनियाभर में सेल्फ-मेड महिला अरबपतियों की संख्या 231 है। इसमें 51 का इजाफा हुआ है। इनमें 66% सेल्फ-मेड अरबपति महिलाएं अकेले चीन में हैं। चीनी फार्मा कंपनी हैनसोह की फाउंडर झोंग हुईजुआन 23 अरब डॉलर के साथ टॉप पर हैं। वैसे, दुनिया की सबसे अमीर महिला वॉलमार्ट की एलिस वॉल्टन हैं, जिनकी संपत्ति 74 अरब डॉलर है।

5 साल पहले बिल और अब मस्क हैं सबसे अमीर
पांच साल पहले की बात करें तो बिल गेट्स दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति थे। तब उनकी संपत्ति 80 अरब डॉलर थी। वहीं, 10 साल पहले कार्लोस स्लिम सबसे अमीर थे और उनकी संपत्ति 55 अरब डॉलर थी। आज एलन मस्क सबसे अमीर हैं और उनकी संपत्ति बिल गेट्स की 5 साल पहले की वेल्थ के मुकाबले ढाई गुना और कार्लोस स्लिम की 10 साल पहले की संपत्ति के मुकाबले 4 गुना ज्यादा है।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here