– ऋषिकेश में टाइल्स लगाने वाले बिहारी युवक ने किया था अपहरण

बिजनौर, डीडीसी। उत्तराखंड के ऋषिकेश (Rishikesh) से 15 लाख रुपये की फिरौती के लिए शनिवार को अपह्रत किए गये 13 वर्षीय किशोर भुवनेश को उत्तर प्रदेश के बिजनौर (Bijnor) में पुलिस ने बरामद कर लिया है। साथ ही पुलिस ने अपहरणकर्ता को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया कि अपहरणकर्ता की पहचान राजन (Rajan) ऊर्फ भोला के रूप में की गयी है और वह ऋषिकेश में टाइल्स लगाने का काम करता है। भोला से पूछताछ की जा रही है।

शनिवार को गायब हुआ था 8वीं का छात्र
पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह ने बताया कि शनिवार को लगभग 11 बजे उत्तराखंड के ऋषिकेश के भट्टोवाला निवासी गोपालकृष्ण का 8वीं में पढ़ने वाला बेटा भुवनेश कुमार घर से गायब हो गया। उन्होंने बताया कि गोपालकृष्ण के पास 15 लाख रुपये की फिरौती देने की कॉल आयी थी। सिंह ने बताया कि गोपाल ने थाना ऋषिकेश में भोला नामक युवक के खिलाफ अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई।

मुरादाबाद ले जाने की फिराक में था अपहर्ता
इसके बाद पुलिस ने कॉल किये गये नंबर से मोबाइल लोकेशन लेकर उत्तर प्रदेश के बिजनौर पुलिस से सहायता मांगी। उन्होंने बताया कि अपहर्ता का मोबाइल लोकेशन बिजनौर के धामपुर में फायर स्टेशन के पास मिली। उन्होंने बताया कि इसके बाद धामपुर की पुलिस टीम ने मुरादाबाद जा रही रोडवेज बस रुकवा कर उसकी जांच की तो उसमें अपहरणकर्ता के साथ भुवनेश सकुशल बरामद हो गया। ऋषिकेश पुलिस को भुवनेश के बरामदगी की सूचना दे दी गयी है।

बिहार के पूर्वी चंपारण का रहने वाला है आरोपी
पुलिस अधिकारी ने बताया कि अपहरण के आरोपी भोला ने बताया कि वह बिहार के पूर्वी चंपारण जिले का रहने वाला है और ऋषिकेश मे टाइल्स लगाने का काम करता है। उसने बताया कि भुवनेश को वह बहला फुसला कर ले जा रहा था, उसके साथियों ने गोपालकृष्ण से 15 लाख रुपये की फिरौती मांगी है। गोपालकृष्ण एम्स ऋषिकेश में सुपरवाइजर हैं। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि भोला से पूछताछ की जा रही है और ऋषिकेश पुलिस को भुवनेश के बरामदगी की सूचना दे दी गयी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here