– ससुरालियों ने पड़ोसी से बदला लेने के लिए रचा षड्यंत्र

रुद्रपुर, डीडीसी। नानकमत्ता में जमीन विवाद के चलते पड़ोसियों को फंसाने के लिए एक महिला ने अपनी बहन के ससुर की हत्या करा दी। कत्ल की इस साजिश में अपनी मां, भाई के अलावा बहन और उसके पति को भी शामिल कर लिया। साजिश के तहत उसने बहन के ससुर को घर बुलाया गया और भाड़े के शूटर की मदद से हत्या करा दी।

ग्राम प्रधान समेत 7 पर कराई FIR
इस हत्या का आरोप ग्राम प्रधान पर लगाते हुए कुल 7 लोगों पर मुकदमा दर्ज करवा दिया, लेकिन पूरा मामला संदिग्ध होने पर पुलिस ने छानबीन की तो साजिश का भंडाफोड़ हो गया। इस मामले में एसएसपी दलीप सिंह कुंवर ने बताया कि मुख्य साजिशकर्ता सहित 6 अभियुक्त गिरफ्तार कर जेल भेजे दिए गए हैं।

घर बुला कर चलवाई ससुर पर गोली
नानकमत्ता के ध्यानपुर गांव में 9 नवंबर की रात अपनी बहू रजविंदर कौर के घर आए जगीर सिंह की हत्या घर के आंगन में सोते समय गोली मारकर कर दी गई थी। रजविंदर और बड़ी बहन लविंद्र ने ग्राम प्रधान समर सिंह, बलविंद्र, लखविंदर, द्वारिका, सुंदर, जितेंद्र और धर्मेंद्र के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने जांच की तो पता चला कि वारदात के समय सभी आरोपी अपने-अपने घरों में थे। तब पुलिस ने शिकायत दर्ज करवाने वालों से सख्ती से पूछताछ की और तब अपराध की परत-दर-परत खुलती गई। इसके बाद पुलिस ने मुख्य साजिशकर्ता लविंद्र, उसकी मां गुरदीप, भाई सूरज, बहन रजविंदर, जंवाई कुलवंत और शूटर जसवंत सिंह को गिरफ्तार किया।

50 हजार रुपये दी थी कत्ल की सुपारी
इस हत्या के लिए अभियुक्तों ने जसवंत सिंह को 50 हजार रुपये की सुपारी दी थी। इसके लिए 15 हजार रुपये एडवांस दिए गए थे। तय हुआ था कि काम होने के बाद बाकी पैसे दिए जाएंगे और उसका इल्जाम पड़ोसियों पर मढ़ा जाएगा। पुलिस ने 12 बोर की बंदूक के साथ एडवांस में दी सुपारी की रकम भी बरामद कर ली है।

बेटा भी शामिल हो गया पिता के कत्ल की साजिश में
हत्याकांड में मृतक का बेटा कुलवंत भी शामिल था। साजिश के तहत उसने वारदात से 8 दिन पहले अपने पिता जगीर को ससुराल में छोड़ा था। जगीर शराब पीने का आदी था। इसलिए वारदात वाली रात उसे शराब पिलाई गई और फिर उसे गोली मारी गई।

मुकदमे को मुकदमे से जवाब देने की थी साजिश
पुलिस के अनुसार. मुख्य अभियुक्त लविंद्र का पड़ोसियों से जमीन का विवाद था। पिछले महीने पड़ोसियों ने विवाद करने पर लविंद्र और परिजनों पर मुकदमा दर्ज कराया था। जिसके बाद पड़ोसियों को सबक सिखाने के लिए लविंद्र ने साजिश रची थी और खुद इसमे फंसकर परिवार सहित सलाखों के पीछे पहुंच गई।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here