– रायपुर के जंगल से पकड़े गए तस्कर

नेल्लोर, डीडीसी। नेल्लोर पुलिस (Nellore Police) ने लाल चंदन की तस्करी (Red Sandalwood smuggling) पर बड़ी कार्रवाई करते हुए रिजर्व फॉरेस्ट में पेड़ों की कटाई में शामिल 55 मजदूरों को पकड़ा है। पुलिस ने तीन तस्करों (smugglers) को भी गिरफ्तार किया है। मुखबिर की सूचना पर कार्रवाई करते हुए आंध्र प्रदेश पुलिस (Andhra Pradesh Police) ने तस्करों को रापुर के जंगल से पकड़ा।

पुलिस पर पत्थर और कुल्हाड़ी से हमला
पुलिस ने लकड़हारे और तस्करों को पकड़ने की कोशिश की तो उन्होंने टीम पर पत्थरों और कुल्हाड़ियों से हमला कर दिया। उन्होंने अपने वाहनों को लेकर भागने की भी कोशिश की, लेकिन पुलिस टीम ने सतर्कता दिखाते हुए 55 मजदूरों और तीन तस्करों को पकड़ लिया।

20 जनवरी को जंगल से काटा था लाल चंदन
Nellore SP चौ. विजया राव के अनुसार, मुख्य तस्कर वेलोर दामू चित्तूर जिले के वीबीपुरम क्षेत्र के आरे गांव का रहने वाला है। वह पुडुचेरी के कुप्पन्ना सुब्रमण्यम से संपर्क में था। दामू इस तस्करी में अपने साले राधाकृष्णन को भी शामिल किए था। तस्कर 20 जनवरी को लकड़हारों के साथ नेल्लोर जिले के गुडूर पहुंचे और रापुर के जंगल में लाल चंदन के पेड़ों को काट दिया। 21 तारीख की रात को भरे ट्रक के साथ तमिलनाडु लौट आए।

तस्करों ने Police पर कर दिया हमला
इस मामले की सूचना पर पुलिस ने वाहनों की तलाशी तेज कर दी और शनिवार दोपहर चेन्नई राष्ट्रीय राजमार्ग पर दो वाहनों को दौड़ते देखा। पुलिस ने पीछा किया तो तस्करों ने लाठी लेकर पुलिस पर हमला करने और भागने की कोशिश की, लेकिन पुलिस ने जीपों से वाहनों को घेर लिया और सभी को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने गिरोह के पास से 45 लाल चंदन की लकड़ी, 24 कुल्हाड़ी, 31 सेलफोन, एक टोयोटा कार और 75,230 रुपये नकद जब्त किए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here