– 12 लाख कैश और लाखों के जेवर पर किया हाथ साफ

भरत गुप्ता, (लखनऊ) डीडीसी। पापा को अपनी लाडली को बहुत प्यार करते थे, लेकिन लाडली के सिर पर किसी और का प्यार सवार था। कमसिन उम्र लाडली उसे अपना बनाना चाहती थी, लेकिन जब इसकी इजाजत नही मिली तो उसने अपने की पापा की तिजोरी लूट कर घर बसाने की कोशिश की। लाडली ने अपने ही प्रेमी से पापा की गाढ़ी कमाई लुटवा दी। तिजोरी तोड़ कर प्रेमी लाखों रुपये लूट कर फरार हो गया, लेकिन कानून के लंबे हाथ से भाग नही सका। मामला उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) गोसाईगंज (Gosaiganj) थाना इलाके का है। फिलहाल अपने ही घर में चोरी को पटकथा लिखने वाली मास्टरमाइंड लाडली और उसका प्रेमी सलाखों के पीछे पहुंच चुके हैं।

मेंथा ऑयल का बड़े व्यापारी है पिता
मास्टरमाइंड 19 वर्षीय खुशबू गोसाईगंज निवासी पिता मनोज मेंथा ऑयल के बड़े व्यापारी हैं। रसूलपुर आशिक गांव में उनका मेंथा आयल की खरीद का बड़ा करोबार है। उन्होंने शुक्रवार सुबह गोसाईंगंज कोतवाली पर घर में हुई लाखों की चोरी की सूचना दी। मनोज ने पुलिस को बताया कि चोरों ने अलमारी से करीब 13 लाख नगद और लगभग चार लाख के जेवर हाथ साफ कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने जब छानबीन शुरू की तो शक की सुई दौरान शक की सुई उसकी बेटी खुशबू पर आकर अटक गई।

17 की उम्र में ही प्यार कर बैठी थी खुशबू
मनोज की बेटी खुशबू का गोसाईंगंज के लालशाह पुरवा गांव के विनय यादव से इश्क था। 19 साल की खुशबू जब महज 17 साल की थी तभी उसे विनय से इश्क हो गया था। गुजरे 2 साल में प्यार इतना बढ़ा कि दोनों ने शादी का फैसला कर लिया। बात घर पहुंची तो बखेड़ा खड़ा हो गया। मनोज ने शादी से साफ इंकार कर दिया, लेकिन खुशबू अपनी जिद्द पर अड़ी रही। इसी के बाद उसने अपने ही पिता की तिजोरी में मौजूद लाखों रुपयों से अपना घर बसाने का प्लान बना लिया।

काढ़े में मिलाकर दिया परिवार को नशीला डोज
प्लान तैयार था और इसमें प्रेमी के साथ उसका दो दोस्त भी शामिल हुआ। खुशबू ने तय किया कि वो रात काढ़े में नशीला दवा मिलाकर परिवार को पिला देगी, जिसके बाद प्रेमी अपने दोस्त के साथ चोरी की वारदात को अंजाम देगा। हुआ भी ऐसा ही। रात नशीले डोज से गहरी नींद में घरवाले सोते रह गए और प्रेमी तिजोरी में रखे लाखों रुपये और लाखों की ज्वैलरी लेकर फरार हो गया। सुबह जब मनोज की नींद खुली तो उसके होश फाख्ता हो गए।

बोली, मुझे प्यार नही करता मेरा परिवार
खुशबू ने पुलिस को बताया कि उसके परिजनों का उसके प्रति व्यवहार ठीक नहीं था। घरवाले उससे प्यार नही करते और इसी वजह से वो काफी परेशान थी। जिसके चलते उसने विनय के साथ रहने का मन बनाया, लेकिन इसके पैसे की कमी आड़े आ रही थी। पैसे की कमी न आए तो विनय के साथ चोरी की योजना बना डाली। विनय ने खुशबू को नींद की गोलियां लाकर दी। जिसे उसके काढ़े में मिला कर अपने मां- बाप को दे दिया। उनके बेहोश होने के बाद चोरी की घटना को अंजाम दे दिया। लेकिन लड़के के गलत आचरण के चलते पिता राजी नहीं हुए।

11 लाख 30 हजार और जेवर बरामद
गोसाईंगंज इंस्पेक्टर अमरनाथ वर्मा ने बताया कि खुशबू के कबूलनामे के बाद पुलिस ने प्रेमी विनय यादव और शुभम को सेगटा गांव के पास गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। पुलिस ने इनके पास से 11 लाख 29 हजार रुपए और जेवरात बरामद किए है जबकि इनका एक साथी रंजीत फरार है।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here