– कानपुर के कलक्टरगंज में होटल में खेला जा रहा था रासलीला का खेल

कानपुर, डीडीसी। जमाना मोहब्बत के अल्फाज़ो के खिलाफ था तो प्रेमी जोड़ों ने शहर के एक होटल को मोहब्बत की पाठशाला बना लिया। इसकी खबर जब हेड मास्टर यानी पुलिस को लगी तो प्यार के दीवानों की क्लास लग गई। लड़कियां तो डांट-डपट कर परिजनों के सुपुर्द कर दी गई, लेकिन लड़कों को जेल की हवा खानी पड़ गई। पूरा मामला उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले का है।

10 कमरों में मिले 10 प्रेमी जोड़े
ये मामला कानपुर के कलक्टरगंज थाना इलाके का है। पुलिस ने कोपरगंज स्थित एक होटल उत्साह में छापा मारा। एक स्थानीय नागरिक ने कंट्रोल रूम को ये खबर दी थी, जो सटीक थी। पुलिस ने अलग-अलग कमरों में छापा मारा तो वो भी आवाक रह गई। 10 अलग-अलग कमरों में छापा मारा गया और सभी कमरों में पुलिस को प्रेमी जोड़े मिले। इन 10 प्रेमी जोड़ों को पुलिस ने दबोच लिया।

बिना आईडी के बुक किए गए थे कमरे
होटल में आत्महत्या, मर्डर और तमाम तरह की वारदातों पर नकेल कसने के लिए ही होटल में आईडी अनिवार्य हुई। यानी बिना आईडी प्रूफ के होटल में कमरा बुक नही किया जा सकता, लेकिन उत्साह होटल में ऐसा नही था। पैसों के लालच में होटल मैनेजर किसी को भी बिना आईडी के कमरा दे देता था। छापेमारी के दौरान जब पुलिस ने इंट्री रजिस्टर चेक किया तो पता लगा कि पकड़े गए एक भी प्रेमी जोड़ों से होटल मैनेजर ने आईडी नही ली थी। फिलहाल अब मैनेजर भी सलाखों के पीछे है।

घंटे के हिसाब से बुक होते थे कमरे
प्रेमी जोड़ों के लिए तो सबसे बड़ी बात ये थी कि होटल में उनसे आईडी नही मांगी जाती थी और बेखौफ होकर वो कमरे में मनमर्जी करते थे। फिर इसके लिए उन्हें कितनी भी कीमत क्यों न चुकानी पड़े। कीमत उत्साह होटल में भी चुकानी होती थी और प्रेमी जोड़ों से यहां कमरे का किराया घंटे के हिसाब से वसूल किया जाता था और प्रेमियों को इस बात से गुरेज भी नही था। बताया जाता है कि एक घंटे के एवज में होटल मैनेजर 500 से 1000 रुपये वसूल करता था।

जिले के बाहर तक फैला उत्साह का नाम
काम जरूर खराब था, लेकिन उत्साह के नाम हर रोज रोशन हो रहा था। यही वजह थी कि होटल में अय्याशी के लिए अब लोग कानपुर के बाहर से भी आने लगे थे और इसकी बानगी आप गिरफ्तार प्रेमियों के पते देख कर लगा सकते हैं। थाना प्रभारी राजेश पाठक ने बताया पकड़े गए युवकों में शास्त्रीनगर निवासी अमित वर्मा, आवास विकास कल्याणपुर का रफत, परमट निवासी मृदुल कुमार, बाबूपुरवा निवासी मोहम्मद अहमद, बर्रा जरौली का प्रदीप कुमार, इफ्तिखारबाद निवासी नुमान अंसारी, मंधना निवासी लक्ष्मीकांत, बेगमपुरवा निवासी शोएब, ग्वालटोली निवासी फरजान और आगरा निवासी धर्मेंद्र के रूप में हुई है।

लड़कों पर कार्रवाई, लड़कियां परिजनों के सुपुर्द
पकड़े गए युवकों के खिलाफ शंातिभंग में कार्रवाई की गई है, जबकि होटल मैनेजर जूही निवासी मयंक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। इसके अलावा युवतियों को उनके परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया है। इसके साथ ही होटल के खिलाफ सराय एक्ट के तहत जिला प्रशासन को रिपोर्ट भेजी जा रही है। पूछताछ में पकड़े गए युवकों ने बताया कि वह बिना आईडी घंटे के हिसाब से कमरा बुक किए थे।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here