– उत्तर प्रदेश के कोरोना कमांड ऑफिस से आई शर्मसार करने वाली आवाज

भरत गुप्ता, डीडीसी। अब इससे ज्यादा शर्मसार करने वाली बात उत्तर प्रदेश सरकार के लिए और क्या हो सकती है कि जब एक मरीज से यह कह दिया जाए कि जा कर मर जाओ… गंवार तो हो ही। ये शब्द हैं कोरोना कमांड ऑफिस से फोन करने वाली एक महिला अधिकारी के और ये शब्द कहे गए हैं एक कोरोना मरीज से, जो खुद जिंदगी से जद्दोजहद कर रहा है। 15 अप्रैल को सुबह सवा 8 बजे हुई इस बातचीत का ऑडियो अब वायरल है।

नमस्कार, मैं प्रीति बात कर रही हूं
15 अप्रैल को कोरोना कमांड ऑफिस से प्रीति नाम की महिला ने संतोष को फोन किया और कहा कि नमस्कार मैं प्रीति बोल रही हूं… क्या मेरी बात संतोष कुमार से हो रही है? इस पर संतोष ने हां में जवाब दिया। प्रीति ने कहा, हमारी जानकारी के अनुसार आप होम आइसोलेशन में हैं? संतोष ने हां में जवाब दिया। प्रीति ने पूछा कि आप चिकित्सा विभाग के होम आइसोलेशन एप पर सूचना भर रहे हैं? संतोष बोले, एप डाउनलोड नहीं किया और न ही आपने बताया है। प्रीति बोली कि ये जानकारी आपको जिला प्रशसान से अवगत कराई जाएगी। संतोष ने कहा कि उन्हें जानकारी नहीं दी, न ही अभी तक डाक्टर देखने आए। इतने में प्रीति तमतमा गई और कहा कि जाकर मर जाओ… गंवार तो हो ही

पीडि़त ने की मुख्यमंत्री से शिकायत
लखनऊ के रहने वाले पीडि़त का नाम है संतोष सिंह और संतोष कोरोना पॉजिटिव हैं। बीती 12 अप्रैल को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। जिसके बाद से वह घर में ही आइसोलेट हैं। नियम के तहत कोरोना कमांड ऑफिस से संतोष को फोन किया गया। ताकि जानकारी जुटाई जा सके, लेकिन फोन करने वाली महिला अधिकारी के बर्ताव से संतोष हैरान रह गए। उन्होंने महिला अधिकारी की शिकायत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here