नई दिल्ली, डीडीसी। जिंदगी की पेचीदियों ने एक नाबालिग को अपनी ही मां का कातिल बना दिया। बात सिर्फ इतनी थी कि उसकी मां पिता को तलाक नही दे रही थी और इस बात को लेकर दोस्त नाबालिग का मजाक उड़ाते थे। मां की लाश दिल्ली की एक सड़क पर पड़ी मिली और आरोपी नाबालिग अब पुलिस की हिरासत में है। नाबालिग को जुवेनाइल कोर्ट में पेश किया गया। जहां उसे बाल सुधार गृह भेज दिया है।
दिल्ली आउटर में एक परिवार था और इस परिवार में पति, पत्नी, दो बेटे और एक बेटा था। परिवार खुश था और सब कुछ अच्छा चल रहा था, लेकिन धीरे-धीरे पति-पत्नी में वैचारिक मतभेद होने लगे। नतीजा परिवार रफ्ता-रफ्ता बिखरने लगा। बात बिगड़ती गई और मामला पुलिस और फिर कोर्ट तक जा पहुंचा। परिवार बिखर गया और पति ने कोर्ट में तलाक की अर्जी डाल दी, लेकिन पत्नी इसके लिए राजी नही थी। बड़ा बेटा अपने पिता के साथ रहने लगा। जबकि पत्नी अपनी बेटी और एक बेटे के साथ अलग रहने लगी। दोनों को अलग रहते हुए अब साढ़े तीन साल गुजर चुके थे। पति लगातार तलाक के लिए दबाव बना रहा और इधर बड़े बेटे (नाबालिग) के दोस्त उसे लगातार मां को लेकर ताना मारते, चिढ़ाते और मां-पिता के रिश्ते को लेकर उसका मजाक उड़ाते। दोस्तों के इस रवैये से वो तंग आ चुका था और अब वो भी इन सबकी वजह मां को मान बैठा था। वो भी चाहता था कि मां पिता को तलाक दे दे, लेकिन ऐसा हुआ नही। इससे बेटा और नाराज हो गया। बीती 30 नवम्बर की शाम वह बहाने से अपनी मां के घर पहुंचा। जहां खाना खाते और बात करते रात हो गई, लेकिन रात करना बेटे के षड्यंत्र में शामिल था। रात के साढ़े 12 बज चुके थे, ऐसे में बेटे ने मां से पिता के घर छोड़ने को कहा और वो राजी भी हो गई। आधी रात वह बेटे को लेकर पति के घर के लिए निकली, लेकिन वह इस बात से बेखबर थी कि बेटे के मन में क्या चल रहा है। रास्ते में एक सुनसान जगह देखर उसने अपनी मां को मौत ले घाट उतार दिया और फरार हो गया। इधर, जब देर तक मां घर नही लौटी तो बेटी फिक्रमंद हो गई। मां को फोन किया, लेकिन फोन नही उठा। फिर भाई को फोन किया, लेकिन उसका फोन स्विच ऑफ था। बेटी का मन अनहोनी से भर गया और अगली सुबह उसकी मां की लाश सड़क किनारे पड़ी मिली। इसके बाद पुलिस सीधा महिला के पति के घर पहुंची और नाबालिग बड़े बेटे को हिरासत में ले लिया। पुलिसिया पूछतांछ में वह टूट गया और उसने अपना जुर्म कुबूल कर लिया। वहीं मृतका की लड़की का कहना है कि घर टूटने के पीछे बड़ा लड़का अपनी मां को वजह मानता था और कई बार जान से मारने की धमकी दे चुका था। उसने अपनी मां पर तलाक के पेपर पर साइन करने को कहा था और न करने पर भी जान से मारने की धमकी दी थी।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here