– वाराणसी में सरेशाम हुई दिल दहला देने वाली वारदात से सनसनी

वाराणसी, डीडीसी। भाभी उसे बार-बार नामर्द कहती थी। भाभी का ऐसा कहना देवर का कलेजा चीर रहा था, लेकिन वो नही मानी। भाभी ने उसे फिर नर्मदा कहा और इस दफा वो आपा खो बैठा। देवर कमरे में रखी तलवार निकाल लाया और भाभी के सिर पर ताबड़तोड़ हमले कर दिए। भाभी की दर्दनाक मौत हो गई और वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया। हालांकि पुलिस की गिरफ्त से वो बच नही सका। घटना वाराणसी के लोहता थाने के रहीमपुर गांव की है।

भाभी के 9 बच्चे, देवर को नही था एक भी
लोहता थाना क्षेत्र के रहीमपुर गांव में सगे भाई मुर्शीद खान और तौफीक खान का परिवार रहता है। मुर्शीद की सात बेटियां व दो बेटे हैं और तौफीक निसंतान है। रोशन जहां (50) मुर्शीद की बीवी है। जबकि तौफीक की पत्नी का नाम शाहजहां है। शादी को कई साल गुजर जाने के बाद भी तौफीक को औलाद नही हो रही थी। जबकि रोशन जहां 9 बच्चों को जन्म दे चुकी थी। इस बात का उसे गुरुर भी था। जब भी घर मे किसी बात को लेकर नाराजगी या विवाद होता तो तौफीक को भाभी रोशन जहां से नामर्दगी के ताने सुनने पड़ते थे।

पटाखे फोड़ने पर हुआ भाभी से आखिरी विवाद
सोमवार की शाम मुर्शीद खान के बच्चे घर के बाहर पटाखे फोड़ रहे थे। इस पर तौफीक ने तेज आवाज में पटाखे फोड़ने से मना किया। इसे लेकर मुर्शीद की पत्नी रोशन जहां और तौफीक की पत्नी शहनाज के बीच कहासुनी शुरू हुई। जब तौफीक विवाद के बीच पहुंचा तो एक बार फिर उसे नामर्दगी का ताना सुनना पड़ा, जो उसे बर्दास्त नही हुआ। तौफीक कमरे में रखी तलवार निकाल लाया। इससे पहले की कोई कुछ समझ पाता, उसने सीधे सिर पर हमले शुरू कर दिए और भाभी को मौत के घाट उतार दिया।

कत्ल किया और दुकान में छिपा दी तलवार
वारदात को अंजाम देने के बाद तौफीक तलवार समेत मौके से फरार हो गया। वह सीधा अपनी परचून की दुकान पहुंचा और यहां तलवार छिपाने के बाद शहर छोड़ने के जुगाड़ में लग गया। हालांकि तब तक तौफीक की तलाश में पुलिस की दबिशें शुरू हो चुकी थीं। आखिर वारदात के अगले ही रोज तौफीक हरपालपुर से गिरफ्तार कर लिया। जिसकी निशानदेही पर तलवार भी बरामद कर ली गई।

--Advertisement--

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here