– 75वें स्वतंत्रता दिवस पर उत्तर प्रदेश में चित्रकूट मंडल के बाँदा में राष्ट्रगान का अपमान

भरत गुप्ता, (लखनऊ) डीडीसी। 75वें स्वतंत्रता दिवस पर राष्ट्रीय ध्वज और राष्ट्रगान का जितना अपमान हो सकता था प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सांसद, विधायक और अफसर ने किया गया। पहले उत्तर के औरैया में डीएम सुनील कुमार वर्मा ने राष्ट्रीय ध्वज उल्टा फहरा दिया और अब उत्तर प्रदेश में चित्रकूट मंडल के बाँदा से ही अपमान की दूसरी खबर है। इस बार अपमान राष्ट्रगान का हुआ और अपमान करने वाले कोई और नहीं बल्कि भारतीय जनता पार्टी के सांसद, विधायक, कमिश्नर और तमाम अफसर हैं। ये वो लोग हैं जिन पर देश मे मान सम्मान की जिम्मेदारी है। बहरहाल, वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है और dakiyaa.com इसकी पुष्टि नहीं करता।

 

200 साल पुराने ऐताहासिक नबाब टैंक परिसर में हुआ अपमान
नवाब टैंक परिसर 200 साल पुराना है 75वें स्वतंत्रता दिवस पर यहां 150 का तिरंगा फहराया गया। इस मौके पर सांसद, विधायक, कमिश्नर समेत तमाम अफसर मौजूद थे। कार्यक्रम में राष्ट्रगान बज रहा था और सारे के सारे गलबहियां करते, टहलते और हंसी-मजाक करते नजर आ रहे हैं। जबकि नियम के मुताबिक जब राष्ट्रगान बज रहा हो तो सभी को सावधान की मुद्रा में खड़ा होना होता है। हालांकि वायरल वीडियो में कुछ और ही नजर आ रहा है। इस वीडियो की जांच होनी चाहिए और दोषियों पर कार्यवाही भी।

राष्ट्रगान का अपमान करने वाले अधिकारी और माननीय
– चित्रकूटधाम आयुक्त दिनेश कुमार सिंह
– डीएम आनन्द कुमार सिंह
– सांसद आर के सिंह पटेल
– सदर विधायक प्रकाश द्विवेदी
– विधायक नरैनी राजकरन कबीर
– विधायक तिंदवारी ब्रजेश प्रजापति
– बबेरू विधायक चन्द्रपाल कुशवाहा
नोट : सांसद और विधायक भाजपा पार्टी से हैं।

राष्ट्रगान गाने या बजाए जाने के समय किस तरह के कानूनी कायदों की जरूरत पड़ती है?
राष्ट्रगान या राष्ट्रीय ध्वज के अपमान पर 3 साल की सजा या जुर्माना या फिर दोषी को दोनों दिए जाने का प्रावधान है। राष्ट्रगान गाने और इसकी धुन बजाए जाने से संबंधित कई दिशानिर्देश हैं। पूरे राष्ट्रगान की धुन 52 सेकंड की होती है, वहीं इसका छोटा संस्करण 20 सेकंड लंबा होता है। पूरा राष्ट्रगान विशेष अवसरों पर राष्ट्रपति, राज्यपाल व अन्य गणमान्य लोगों को दिए जाने वाले नैशनल सल्यूट के दौरान बजाया जाता है। छोटा संस्करण मेस में ड्रिंकिंग टोस्ट के दौरान बजाया जाता है। राष्ट्रगान गाए जाने पर कोई प्रतिबंध नहीं है, इसके लिए बस इतनी शर्त है कि राष्ट्रगान गाते वक्त उचित मर्यादा कायम रखी जाए। जब भी राष्ट्रगान गाया या बजाया जाए, तो वहां मौजूद लोगों को सावधान की मुद्रा में खड़े होना होगा। मार्च 2016 में दिए गए एक आदेश में कहा गया कि अगर किसी फिल्म, न्यूजरील या डॉक्युमेंट्री में राष्ट्रगान का इस्तेमाल होता है, तो दर्शकों को खड़े होने की जरूरत नहीं है।

ऐसे करे माननीयों की वीडियो में पहचान

नारंगी कुर्ता ( हरा दुपट्टा ) सदर विद्यायक प्रकाश द्विवेदी लोगो को धक्का देते हुए…

– व्हाइट मास्क, व्हाइट कुर्ता, कन्धे पर सफेद-लाल गमछे में  सांसद आर के सिंह पटेल

– सांसद के ठीक पीछे बाई और नारंगी कुर्ता BJP का मास्क लगाए बबेरू विधायक चंद्रपाल कुशवाह

– नारंगी कुर्ता काला चश्मा हल्का हरा मास्क पहने विद्यायक तिंदवारी ब्रजेश प्रजापति हाथ पर हाथ रखे हुए

– नरैनी विद्यायक राजकरन कबीर पिला कुर्ता मुह के नीचे थुड़ी पर आधा मास्क लागये हुए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here